नगर निगम चुनाव:निगम चुनाव जीतने के बाद आजाद प्रत्याशी जॉइन नहीं करेगा कोई पार्टी

 

नगर निगम चुनाव - Dainik Bhaskar

नगर निगम चुनाव

  • एमसी एक्ट में किया प्रावधान, कैबिनेट लेगी अंतिम
  • नियम तोड़े तो जीता प्रत्याशी होगा अयोग्य करार, अगले पांच साल तक चुनाव नहीं लड़ पाएगा

नगर निगम के चुनाव जीतने के बाद काेई भी आजाद प्रत्याशी किसी भी पार्टी काे ज्वाइन नहीं कर सकता है। ऐसा करने पर राज्य चुनाव आयाेग उसे दल-बदल कानून के तहत अयाेग्य करार कर सकती है। इसके बाद वह अगले पांच साल तक चुनाव नहीं लड़ पाएगा। शहरी विकास विभाग एमसी एक्ट में इसका प्रावधान कर रही है।

हालांकि प्रदेश मंत्रिमंडल इस पर अपना अंतिम निर्णय लेगी लेकिन आजाद उम्मीदवार के किसी भी पार्टी के ज्वाइन न करने की व्यवस्था एकट में लागू की जा रही है। ऐसा इसलिए क्याेंकि उसने चुनाव में किसी पार्टी का सदस्य के रूप में नहीं बल्कि आजाद उम्मीदवार के ताैर पर चुनाव जीता है।

हालांकि उम्मीदवार किसी भी पार्टी काे अपना समर्थन दे सकता है लेकिन वह काेई पार्टी ज्वाइन नहीं कर सकता। इसी तरह भाजपा और कांग्रेस के जीते हुए उम्मीदवाराें पर भी पार्टी बदलने पर दल बदल कानून काे लागू किया जाएगा।

अगर काेई उम्मीदवार चुनाव जीतने के बाद दूसरी पार्टी काे ज्वाइन करता है या उसकी सदस्यता लेता है ताे उसे भी अयोग्य करार किया जाएगा और उस पर दल-बदल कानून के तहत कार्यवाही की जाएगी।

 

Check Also

महाकाल मंदिर में शिव नवरात्रि:दूसरे दिन बाबा को धारण कराया वासुकी नाग, कल घटाटोप स्वरूप में देंगे दर्शन

शिव नवरात्रि में महाकाल मंदिर में बाबा महाकाल को संध्या श्रृंगार में नाग धारण कराया …