नगर आयुक्त कोर्ट का फैसला:अवैध निर्माण पर सेवा सदन, फूलबाबा आश्रम सहित 43 भवनाें काे 1 हफ्ते में तोड़ने का आदेश

 

  • बड़ा तालाब के किनारे बने अवैध भवनाें के खिलाफ नगर निगम की कार्रवाई शुरू
  • भवन मालिकों पर एक लाख से 10 लाख तक जुर्माना भी लगेगा

राजधानी में अवैध निर्माण करने वाले भवनों को सील करने और फिर उसे तोड़ने की कार्रवाई रांची नगर निगम ने शुरू कर दी है। नगर आयुक्त मुकेश कुमार ने आदेश दिया है कि नागरमल माेदी सेवा सदन सहित अवैध रूप से बने 43 भवनाें काे अगले सात दिनों के अंदर सील कर ताेड़ें। साथ ही भवन मालिकों पर एक लाख रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक जुर्माना लगाएं।

जिन अवैध भवनों पर कार्रवाई होनी है, उनमें वर्षों पुराना फूलबाबा आश्रम, चिन्मय मिशन, माहेश्वरी भवन, तीन कॉमर्शियल कांप्लेक्स सहित छाेटी-बड़ी दुकानें भी शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि नगर निगम ने पिछले साल बड़ा तालाब के किनारे बने भवनाें का सर्वे कराया था। उसके बाद सभी भवन मालिकों काे नोटिस भेजकर 15 दिनों के अंदर भवन का नक्शा सहित अन्य कागजात जमा करने काे कहा था। लेकिन 43 भवन मालिकों ने निगम के नोटिस का काेई जवाब नहीं दिया।

सर्वे के बाद निगम के नोटिस का जवाब नहीं देने पर दर्ज हुआ था केस

बड़ा तालाब के किनारे स्थित भवनों के सर्वे के बाद नगर निगम की ओर से जारी नोटिस का जवाब नहीं देने पर 43 भवन मालिकों के खिलाफ नगर आयुक्त के काेर्ट में अवैध निर्माण का केस दर्ज किया गया। मामले की जब सुनवाई शुरू हुई तो कोई भी भवन मालिक काेर्ट में अपना पक्ष रखने के लिए उपस्थित नहीं हुआ। इस पर नगर आयुक्त की अदालत ने एकतरफा कार्रवाई करते हुए सभी 43 भवनों को अवैध मान लियाा। कोर्ट के आदेश के अनुसार अगले सात दिन में इन भवनों को सील कर तोड़ने की कार्रवाई की जाएगी।

इन भवनाें काे सील कर ताेड़ने की तैयारी

नागरमल मोदी सेवा सदन, माहेश्वरी भवन, चिन्मय मिशन आश्रम, फूलबाबा आश्रमकेएस इंटरप्राइजेज, अशोक जालान का भवन, रंगलाल कांप्लेक्स, महादेव टाइल्स, महिला उद्योग बाजार, चाैधरी शाॅप, वासुदेव राम का प्रतिष्ठान, लेक रोड, विनोद गुप्ता का भवन, नालंदा सिंटेक्स, अपोलो डायग्नोस्टिक, रांची स्टोर्स सप्लाई कॉरपोरेशन, जींस फैक्ट्री, प्रेम इंडस्ट्रीज, ट्रेड कॉम्प्लेक्स, क्राफ्ट क्लोथ स्टोर, गोपाल मेडिकल हॉल, लेक व्यू अपार्टमेंट, जैन मेडिकल, राजकिशोर गुप्ता व अन्य, अनवर वर्कशॉप वेस्ट बड़ा तालाब, शाहनवाज ऑप्टिकल, मो शमीउद्दीन वेस्ट बड़ा तालाब, राधिका इंटरप्राइजेज, आरुष होटल, फूल कच्छप, शंकर कच्छप, शरद कच्छप, सोनी कच्छप, गगन कच्छप, हिमांशु कच्छप का मकान,, खेतान स्टील, यूनिवर्सल इंटरप्राइजेज, वेस्पा अप्रेला ऑटाे फ्लेक्स, सना ट्रेडर्स, शौकत अली तगेला, अम्माद पोल्ट्री, एसएस इंटरप्राइजेज, शाहबाद जैद चिकेन शाॅप, चिकेन रिटेल आउटलेट, झारखंड बंगाल रोडवेज कार्यालय, लेक व्यू कार वाॅशिंग सेंटर।

 

Check Also

मोमेंटम झारखंड:एमओयू करने वालीं 162 में से 113 भारतीय कंपनियों ने खींचे हाथ, 13 विदेशी कंपनियों का नामोनिशान नहीं

  झारखंड एजी की स्पेशल ऑडिट रिपोर्ट आने से पहले पढ़िए मोमेंटम झारखंड पर भास्कर …