नई पीढ़ी से डील करें जरा सोच समझकर:हिमाचल प्रदेश में मां-बाप ने मोबाइल चलाने से रोका तो 8वीं की छात्रा ने खा लिया जहर, अस्पताल में मौत

हालत बिगड़ने पर बच्ची ने मां-बाप को बताया। - Dainik Bhaskar

हालत बिगड़ने पर बच्ची ने मां-बाप को बताया।

नई पीढ़ी के बच्चों में धैर्य अमूमन कम होता है, इसलिए नई जनरेशन के बच्चों से डील करते समय मां-बाप को सावधानी बरतनी चाहिए। हिमाचल प्रदेश में हाल ही में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है।

बिलासपुर जिले के भराड़ी क्षेत्र के एक गांव में 13 साल की बच्ची ने जहर निगलकर खुदकुशी कर ली। बात सिर्फ इतनी-सी थी कि उसके मां-बाप ने उसको मोबाइल चलाने से रोका था। उपचार के दौरान बच्ची की मौत हुई। पुलिस ने मां-बाप के बयान दर्ज करके केस फाइल कर लिया है।

DSP अनिल कुमार ने बताया कि मामला भराड़ी क्षेत्र के दायरा गांव का है। मृतका 8वीं की छात्रा थी। पिता मजदूरी करते हैं। सोमवार को वह काम के लिए गए थे। दोपहर को जब खाना खाने के लिए घर आए तो उनकी बेटी को उल्टियां हो रही थीं। पूछने पर उसने बताया कि उसने जहरीला पदार्थ खा लिया है।

यह सुनते ही मां-बाप परिजन उसे उपचार के लिए जाहु ले गए, जहां से उसे गंभीर हालत को देखते हुए भोरंज अस्पताल रेफर किया गया, लेकिन वहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। पिता ने पुलिस को बताया कि उनकी बेटी मोबाइल ज्यादा इस्तेमाल करती थी, जिसके लिए वह उसे मना करते थे। इसी बात पर उसने जहर खा लिया था।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

शमशेर सिंह पर अनुशासनहीनता की कार्रवाई करें भाजपा संगठनः चोपड़ा

हरिद्वार, 24 जून (हि.स.)। पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति के अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने उत्तराखंड …