दोस्त की बहन को दिल दे बैठे थे लालू यादव के ये नेता, परिवार को मनाने में लगे 8 साल

पटना: बिहार विधान सभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के कुछ महीने पहले जेडीयू (JDU) छोड़कर आरजेडी (RJD) में शामिल हुए श्याम रजक को इस बार टिकट नहीं मिला है. लालू यादव (Lalu Yadav) के करीबी माने जाने वाले श्याम रजक (Shyam Rajak) 6 बार विधायक रह चुके हैं और लालू व नीतीश दोनों के कार्यकाल में मंत्री पद संभाल चुके हैं. श्याम रजक के राजनीतिक करियर की तरह उनकी पर्सनल लाइफ भी काफी दिलचस्प है.

2001 में की थी शादी
श्याम रजक ने साल 2001 में अल्का से शादी की थी, जो पेशे से पत्रकार हैं. बताया जाता है कि अल्का उनके दोस्त की बहन हैं और पहली मुलाकात में ही दोनों एक-दूसरे को पसंद करने लगे थे. साल 1993 में श्याम रजक अपने दोस्त की जन्मदिन पार्टी में गए थे और वहीं पर पहली बार उनकी मुलाकात अल्का से हुई थी.

 

परिवार को मनाने में लगे 8 साल
श्याम रजक पिछड़ी जाति के हैं, जबकि उनकी पत्नी अल्का सवर्ण जाति से है. जब दोनों ने प्यार के बाद शादी करने का फैसला किया, तब दोनों के परिवार इसके खिलाफ खड़े हो गए. हालांकि दोनों ने हार नहीं मानी और लगातार परिवार को मनाने की कोशिश करते रहे और फिर साल 2001 में दोनों अपने परिवार को मनाने में सफल रहे.

इस तरह मिली परिवार की रजामंदी
अल्का ने एक इंटरव्यू में अपनी लव स्टोरी के बारे में बात करते हुए बताया था कि जब श्याम रजक का एक्सीडेंड हुआ था तब में कई दिनों तक लगातार हॉस्पिटल में रही और उनकी देखभाल की. इसके बाद उनकी मां ने श्याम से कहा था कि मैं कब तक इस दुनिया में रहूंगी और तुम्हारा ख्याल रखूंगी. अगर तुम अल्का से शादी करना चाहते हो तो कर सकते हो. हालांकि ये सिर्फ एक हां थी, इसके बाद भी हमें कई लोगों को मनाना पड़ा.

Check Also

6 महीने पहले घर से भागी लड़की ने बेगूसराय के बालिका गृह में की खुदकुशी

  घटना के बाद गमगीन मृतका के परिजन। मृतका शेखपुरा जिले के बरबीघा थाना क्षेत्र …