देश में पिछले 21 दिनों से पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से कम, रिकवरी रेट बढ़कर 95.43 फीसदी हुई

 

भारत में कोरोना की रफ्तार धीमी पड़ी है. पिछले 24 घंटे में 70,421 नए मामले सामने आए जबकि 3921 लोगों की संक्रमण से मौत हुई है. 74 दिनों के बाद सबसे कम नए केस रिपोर्ट हुए हैं. वहीं 66 दिनों के बाद भारत का सक्रिय केस लोड 10 लाख नीचे आए है. भारत में रिकवरी रेट बढ़कर 95.43 फीसदी हो गई है.

देश में कोरोना के नए केस में पहले के मुकाबले कमी आई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, भारत में पिछले 24 घंटों में 70,421 नए मामले रिपोर्ट हुए है जबकि 3,921 लोगों की संक्रमण की वजह से हुई है. इसके साथ ही भारत में 2,95,10,410 लोग संक्रमित हुए हैं और इसमें से 3,74,305 लोगों की जान कोरोना संक्रमण की वजह से गई है.

वहीं देश में एक्टिव केस दस लाख से नीचे आए हैं. एक्टिव केस लोड 66 दिनों के बाद 10 लाख अंक से नीचे आया है. इस वक़्त भारत में 9,73,158 एक्टिव केस हैं यानी वो मरीज जिनका इलाज चल रहा है. कोरोना महामारी की शुरुआत से संक्रमित लोगों में से 2,81,62,947 लोग कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके हैं और पिछले 24 घंटे में 1,19,501 मरीज ठीक हुए हैं. इसके साथ ही देश मे संक्रमण से ठीक होनेवालों की दर यानी रिकवरी रेट 95.43 फीसदी हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, भारत में पिछले कुछ दिनों से लगातार कोरोना के मामलों में कमी आई है.

    • 20 मई को 2,76,110 नए मामले रिपोर्ट हुए
    • 25 मई को 1,96,427 नए मामले रिपोर्ट हुए
    • 30 मई को 1,65,553 नए मामले रिपोर्ट हुए
    • 4 जून को 1,32,364 नए मामले रिपोर्ट हुए
    • 9 जून को 92,596 नए मामले रिपोर्ट हुए
    • 14 जून को 70,421 नए मामले रिपोर्ट हुए

इन आंकड़ों से साफ है कि कोरोना संक्रमण के मामलों में हर दिन कमी आ रही है. वहीं अभी वीकली पॉजिटिविटी रेट 4.54 फीसदी है जबकि डेली पॉजिटिविटी रेट आज 4.72 फीसदी है. लगातार 21 दिनों से पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से कम है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले 35 दिनों से वीकली पॉजिटिविटी रेट में कमी देखी गई है.

    • 15 मई को 19.67%
    • 20 मई को 16.03%
    • 25 मई को 12.03%
    • 30 मई को 9.36%
    • 4 जून को 7.27%
    • 9 जून को 5.66%
    • 14 जून को 4.54%

ये सभी आंकड़े इस ओर इशारा कर रहे हैं कि भारत में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर कमज़ोर हुई है और संक्रमण की रफ्तार धीमी पड़ी है. लेकिन अगर इस बीच सावधानी नहीं बरती गई और कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर का पालन नहीं किया गया तो हालात खराब होने में समय नहीं लगेगा. इसलिए मास्क पहनना, भीड़ में जाने से बचना, हाथ धोते रहना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना और वैक्सीन लगवाना जरूरी है.

Check Also

जालंधर में अकाली-बसपा के प्रदर्शन में माहौल गर्माया:मांग पत्र देने पहुंचे तो जॉइंट कमिश्नर मोबाइल पर बात करते रहे, भड़के नेताओं ने सरकार को छोड़ उन्हीं के खिलाफ शुरू कर दी नारेबाजी

  मांग पत्र देने खड़े पहुंचे नेता व मोबाइल पर बात करते जॉइंट कमिश्नर। जालंधर …