दुबलेपन से परेशान है तो, इन नेचुरल तरीको से बढ़ाया जा सकता है आसानी से वजन

आज जहां एक ओर मोटापे से पीड़ित लोग अपना वजन कम करने के लिए अपनी डाइट पर ध्यान दे रहे हैं। वहीं दूसरी ओर दुबलेपन के शिकार लोग इससे निजात पाने का लिए अपनी डाइट को बढ़ाकर इसे दूर करना चाह रहे हैं। जबकि ऐसा करने उनके लिए काफी नुकसानदायक हो सकता है। अपनी डाइट में किसी भी तरह के जंक फूड को शामिल करने या बेतरतीब तरह से खाने के कारण शरीर का वजन बढ़ने के साथ ही शरीर रोगी हो सकती है।
शरीर का वजन बढ़ाने के लिए हमें पोष्टिक आहार और प्रोटीन युक्त भोजन करना चाहिए। जिससे शरीर को आवश्यक तत्व और प्रोटीन मिल सके औऱ शरीर का विकास तेजी हो सके। इसके साथ ही तेजी से वजन बढ़ाने के लिए फलों का सहारा ले सकते हैं। फलों में विटामिन्स और प्रोटीन की भरपूर मात्रा दूसरे पोषक पदार्थों की तुलना में कई गुना तक मिल सकती है।
शरीफा से दूर होगा दुबलेपन
अगर आप दुबलेपन की शिकायत से परेशान हैं और जल्द से जल्द नेचुरल तरीके से वजन बढ़ाना चाहते हैं तो आप शरीफा का इस्तेमाल कर सकते हैं। डायटीशियन का मानना है कि नियमित शरीफे के इस्तेमाल से शरीर का वजन आसानी से बढ़ाया जा सकता है। शरीफे में हाई लेवल प्राकृतिक शुगर पाई जाती है जिसे आसानी से फैट या वसा में बदला जा सकता है। शरीफे में पाई जाने वाली शुगर शरीर के वजन को बढ़ाने काफी मददगार होती है।
इसके अलावा शरीफे में थियामिन, मैग्नीशियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, नियासिन, विटामिन सी, मैग्नींज, राइबोफ्लेविन और आयरन काफी ज्यादा मात्रा में पाया जाता है। जिससे शरीर को मजबूती और रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है।
शतावरी से बढ़ेगा वजन
इसके अलावा आप वजन को बढ़ाने के लिए शतावरी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। शतावरी में कैलोरी लेवल काफी कम मात्रा में पाया जाता है लेकिन इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व शरीर के लिए फायदेमंद साबित होते हैं। इसे उबालकर, रोस्ट करके, ग्रिलिंग और स्टीम के जरिए पकाया जा सकता है। इसका इस्तेमाल आमलेट, स्लाद और पास्ता के साथ कर सकते हैं। इसमें पाया जाने वाला फाइबर, पोटेशियम, विटामिन ई, प्रोटीन, फास्फोरस, वसा, विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के और फोलेट शरीर का वजन तेजी से बढ़ाने मददगार होते हैं।

Check Also

Sore Throat : मौसम बदलते ही अगर होती है आपके गले में खराश, तो जल्द से जल्द करें ये उपाय

मौसम बहुत ही तेजी से अपना रूप बदलता है. ये समय भी कुछ वैसा ही …