दुबई में होनी थी शादी, 300 मेहमानों के लिए बुक थी फ्लाइट; लॉकडाउन में हो गया निकाह, बच गए डेढ़ करोड़

कानुपर(Uttar Pradesh). आज कल की शादियां बेहद खर्चीली हो गई हैं। लोग शादियों में लाखों रूपए पानी की तरह उड़ा देते हैं। लेकिन कोरोना संकट ने ये पूरा सिस्टम ही बदल कर रखा दिया है। कोरोना संकट से किए गए लॉकडाउन से जहां लोग बिना किसी झंझट के शादी के बंधन में बंध रहे हैं वहीं इससे दोनों पक्षों की संतुष्टि भी देखी जा रही है। लॉकडाउन में कई ऐसे मामले सामने आया चुके हैं जहां दूल्हे व दुल्हन से दोनों परिवारों की मौजूदगी से साधारण तरीके से शादी कर ली। अब एक ऐसा ही मामला कानपुर में सामने आया है। बताया जा रहा है कि इस शादी में करोड़ो का खर्च होने वाला था। कानपुर के एक बड़े व्यवसायी ने अपनी बेटी की शादी दुबई के बड़े घराने में तय की थी। लेकिन कोरोना संकट के कारण दूल्हे-दुलहन ने साधारण तरीके से वीडियो कलिंग से शादी कर ली। आधुनिक जमाने की इस शादी की पूरे इलाके में चर्चा है।

कानपुर के जाजमऊ इलाके में रहने वाले चमड़े के बड़े व्यापारी असद इराकी ने अपनी बेटी का निकाह 12 अप्रैल को दुबई के रिहान अशरफ के साथ तय किया था। बेटी की शादी के कार्ड भी छप चुके थे। दुबई के five star होटल ‘जुबेदा मदीना’ को शादी के लिए बुक करा दिया गया था। कानपुर से 300 मेहमानों के लिए फ्लाइट का टिकट भी बुक कराया गया था। लेकिन लॉकडाउन के कारण सभी कार्यक्रमों को रद्द करना पड़ा। इसके बाद दोनों परिवारों ने इस समस्या को सुलझाने के लिए विचार-विमर्श किया। आखिरकार दोनों परिवारों ने आपसी सहमति के बाद गुरूवार को असद ने बेटी डूबा का निकाह रिहान अशरफ के साथ ऑनलाइन करवा दिया।

बच गए शादी में खर्च होने वाले करोड़ो रूपए 
दुबई के फाइव स्टार होटल में होने वाली इस शादी में तकरीबन डेढ़ करोड़ का खर्च होने का अनुमान लगाया जा रहा था। 300 मेहमानों की फ्लाइट का टिकट और होटल आदि का खर्च मिलाकर इस शादी में डेढ़ करोड़ के आसपास खर्च होने की उम्मीद जताई जा रही थी। लेकिन लॉकडाउन के कारण दोनों परिवारों की रजामंदी से निकाह ऑनलाइन हो गया। जिससे दोनों पक्षों के करोड़ो रूपए बच गए।

दोनों तरफ के मौलवियों ने वीडियो कालिंग से पढ़ा निकाह 
ऑनलाइन निकाह की सहमति बनने के बाद 28 मई की शाम व्यवसायी असद के जाजमऊ अशरफाबाद स्थित उनके आवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बेटी का निकाह संपन्न करवाया गया। दोनों तरफ के मौलवियों ने निकाह पढ़ा और शादी हो गई। निकाह के लिए 20 मेहमानों की स्वीकृति ली गई थी।

लड़की की पिता ने कहा-धूमधाम से शादी का था अरमान
दुल्हन के पिता असद ने बताया कि उनका अरमान था कि बेटी की शादी धूमधाम से हो, लेकिन लॉकडाउन के कारण यह संभव नहीं हो पाया। लॉकडाउन के लम्बे समय तक चलने के कारण उन्होंने ऑनलाइन शादी के प्रस्ताव को मंजूरी दी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान लड़का और लड़की पक्ष के लोगों ने सोशल डिस्टेन्सिंग का पूरा ध्यान रखा। दुल्हन के पिता ने बताया कि वे लॉकडाउन समाप्त होने का बेसब्री से इन्तजार कर रहे हैं, ताकि वे बेटी की शादी के लिए देखे अपने सपने को पूरा कर पाएं और ख़ुशी-ख़ुशी अपनी बेटी को विदा कर सकें।

Check Also

मां सरला ने कहा- 8 पुलिसकर्मियों की जान का काल बन गई 6 बीघा जमीन; विकास दुबे कहीं हो सामने आए

राहुल तिवारी ने विकास दुबे पर अपहरण और जानलेवा हमले की लिखाई थी एफआईआर एफआईआर …