दुखद हादसा:कैंटर-बाइक टक्कर में इकलौते बेटे की मौत; पुलिस भर्ती के लिए कल जिस सिविल में था मेडिकल,अब उसी में होगा पोस्टमार्टम

 

कैंटर के आगे फंसी हुई मोटरसाइकिल। कैंटर के पिछले टायरों को खोलकर शव को बाहर निकाला गया।-भास्कर - Dainik Bhaskar

कैंटर के आगे फंसी हुई मोटरसाइकिल। कैंटर के पिछले टायरों को खोलकर शव को बाहर निकाला गया।-भास्कर

  • पिता की भी हादसे में हुई थी मौत, उन्हीं की जगह मिली थी नौकरी
  • संगरूर में फोकल प्वाइंट के पास दुर्घटना, शरीर के अंग सड़क पर बिखरे
  • आमने-सामने हुई टक्कर, 100 मीटर बाइक को घसीटते ले गया कैंटर

शनिवार को फोकल प्वाइंट के नजदीक मोटरसाइकिल और कैंटर की जबरदस्त टक्कर में मोटरसाइकिल सवार एक युवक की मौत हो गई है। टक्कर इतनी भयानक थी कि कैंटर मोटरसाइकिल और युवक को 100 मीटर तक घसीटता हुआ ले गया।

युवक के कई अंग सड़क पर बिखर गए और शव कैंटर के पिछले टायरों में फंस गया। शव को कड़ी मशक्कत के बाद जेसीबी और लोगों की मदद से निकाला गया। इस सड़क दुर्घटना के बाद कैंटर चालक कैंटर छोड़ मौके से फरार हो गया है। पुलिस ने अज्ञात कैंटर चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार शहर की पुलिस लाइन का रहने वाला मनजोत सिंह अपने दोस्त के जश्नप्रीत सिंह के साथ मोटरसाइकिल पर सुनाम से संगरूर शहर की तरफ आ रहा था। मोटरसाइकिल को जश्नप्रीत चला रहा था। मोटरसाइकिल जब फोकल प्वाइंट के नजदीक पहुंचा तो सामने से आ रहे कैंटर की मोटरसाइकिल के साथ टक्कर हो गई।

जश्नप्रीत टक्कर लगते ही सड़क पर एक साइड गिर गया जबकि पीछे बैठा मनजोत कैंटर की चपेट में आ गया। मोटरसाइकिल कैंटर के आगे जबकि मनजोत पिछले टायर में फंस गया। मोटरसाइकिल को कैंटर 100 मीटर तक घसीटते हुए ले गया। इस कारण मनजोत की एक टांग और दूसरे अन्य अंग सड़क पर बिखर गए। कैंटर रुकते ही चालक कैंटर को छोड़ मौके से फरार हो गया।

मनजोत सिंह की पुरानी फोटो।

मनजोत सिंह की पुरानी फोटो।

रेत से भरे कैंटर को जेसीबी से उठाकर पिछले टायर खोले गए

हादसे का पता चलते ही आसपास के लोग एकत्रित हो गए। थाना सिटी-1 के एसएचओ प्रितपाल सिंह भी पुलिस पार्टी सहित मौके पर पहुंच गए। घायल जशनप्रीत को तुरंत सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया जबकि मनजोत के शव को टायरों में से निकालने की काफी कोशिश की गई मगर कोई कामयाबी न मिली। क्योंकि कैंटर रेत से भरा होने के कारण काफी भारी था। आखिरकार जेसीबी मंगवाकर कैंटर को ऊपर उठाया गया और टायर खोलकर मनजोत का शव बाहर निकाला गया।

सुनाम से संगरूर शहर की तरफ आ रहा था मनजोत बाइक चालक दोस्त कैंटर से टकरा साइड पर गिरा

मनजोत सिंह का गांव अलीपुर खालसा है, उसके पिता चमकौर सिंह पंजाब पुलिस में एएसआई के पद पर तैनात थे। कुछ समय पहले ही चमकौर सिंह की सड़क हादसे में मौत हो गई थी। पिता के स्थान पर मनजोत को पंजाब पुलिस में नौकरी मिल गई थी। सोमवार को उसका मेडिकल होना था। जिसके बाद उसने नौकरी ज्वाइन करनी थी। मनजोत परिवार का इकलौता बेटा था।

अब घर में उसकी मां और बहन ही बची है। मनजोत सिंह शनिवार को सुनाम से संगरूर शहर की तरफ बाइक पर आ रहा था कि कैंटर के साथ टक्कर होने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। मनजोत की मौत की खबर उसके घर पहुंचते ही गांव में मातम छा गया। मनजोत सिंह का पोस्टमार्टम उसी संगरूर के सिविल अस्पताल में हुआ, यहां पर उसका नौकरी के लिए मेडिकल टेस्ट होना था।

कैंटर के अज्ञात ड्राइवर मामला दर्ज

थाना सिटी-1 के एसएचओ प्रितपाल सिंह ने बताया कि मनजोत सिंह के शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है। पुलिस ने अज्ञात कैंटर चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर कैंटर को कब्जे में ले लिया। उन्होंने कहा कि फरार कैंटर चालक की तलाश के लिए पुलिस टीमें जुटी हुई हैं।

 

Check Also

मराठा आरक्षण मामला: SC का राज्यों को नोटिस,पूछा-क्या आरक्षण सीमा को 50% से बढ़ा सकते हैं..?

नई दिल्ली/मुंबई:मराठा आरक्षण मामले में सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान सभा राज्य …