दिल्ली में समय से पहले पहुंच सकता है मानसून, फिलहाल गर्मी से राहत के आसार नहीं

नई दिल्ली, 08 जून (हि.स.)। पिछले साल की तुलना में इस बार मानसून की गति बेहद तेज बताई जा रही है। मौसम विभाग का कहना है कि यदि मॉनसून इसी रफ्तार से आगे बढ़ता रहा तो, दिल्‍ली-एनसीआर समेत उत्‍तर भारत को जल्‍द ही तेज गर्मी से राहत मिल सकती है। हालांकि इस हफ्ते उत्‍तर-पश्चिम भारत में ज्‍यादातर जगहों पर कड़ी धूप रहेगी जिससे अधिकतम तापमान बढ़ने की संभावना है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक, दक्षिण-पश्चिम मॉनसून पूर्वी भारत और उत्‍तरी प्रायद्वीप के बाकी तरफ बढ़ रहा है। जल्‍द ही यह बिहार, उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश तक पहुंच जाएगा। आईएमडी को उम्मीद है कि मॉनसून उम्‍मीद से ज्‍यादा तेज रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। यही स्थिति रही तो तय समय से पहले ही दिल्‍ली पहुंच सकता है। सामान्य रूप से मॉनसून की जून के आखरी दिनों में दिल्ली में पहुंचता है। लेकिन इस बार 13-14 जून तक पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के हिस्‍सों तक मॉनसून पहुंचने की संभावना बन रही है। हलांकि आईएमडी ने आने वाले 5 दिनों का जो मौसम बुलेटिन जारी किया है, उसमें दिल्‍ली-एनसीआर को गर्मी से राहत मिलती नहीं दिख रही। 11 जून तक आसमान साफ रहने के साथ-साथ 20 से 30 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलने का अनुमान है। इस दौरान अधिकतम तापमान 41 डिग्री तक पहुंच सकता है जबकि न्‍यूनतम तापमान 26-28 डिग्री के बीच रहेगा। रविवार (13 जून) से मौसम में बदलाव की संभावना है। मौसम विभाग ने 13 और 14 जून को गरज के साथ बारिश का अनुमान लगाया है।
उल्लेखनीय है कि केरल के बाद महाराष्ट्र में मानसून ने दस्तक दे दी है। भारत के पूर्वोत्तर राज्यों उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम के अधिकांश हिस्सों में यह आगे बढ़ गया है। अगले 48 घंटों में ये उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में भारी बारिश के साथ-साथ 8 से 10 जून के दौरान तेज हवाएं चलने की संभावना है।आईएमडी की मानें राजस्थान और उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में तेज हवाएं चलने के अलावा बारिश हो सकती है।
हिन्दुस्थान समाचार

Check Also

60 वर्षीय महिला से रेप की जांच एसआईटी से कराने की मांग : पश्चिम बंगाल

   पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा के दौरान एक बलात्कार की पीड़ित महिला ने …