थाना प्रभारी को फोन पर धमकी देने का ऑडियो हुआ वायरल

 

यूपी के मुज़फ्फरनगर में पिछले दिनों जनपद के एक थाना प्रभारी को फोन पर जबरदस्त तरीके से धमकाने और नौकरी पर लाल कलम चलवाने की धमकी देने वाले एक कथित नेता जी को पुलिस ने दो दिन के अंदर ही खोज निकाला. पुलिस ने आरोपी को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार करने का दावा किया है. वहीं पुलिस के अनुसार आरोपी नेता लिकायत पर कई मुकदमे दर्ज हैं. वो फिलहाल 302 के मामले में फरार चल रहा था. फरारी के दौरान ही उसने ने थाना प्रभारी को किसी मामले में फोन किया और खूब खरी खोटी सुनाई.

आरोपी और थाना प्रभारी के बीच हुई वार्तालाप का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो पुलिस विभाग में तो हड़कंप मच गया. जनपद में जिसने भी थाना प्रभारी और इस दबंग के बीच की ऑडियो को सुना तो हक्का-बक्का रह गया. मामला पुलिस अधिकारियों के संज्ञान में आया तो लिकायत पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरू कर दी गई. इसके बाद पुलिस ने ऑडियो वायरल होने के 24 घंटे के अंदर ही इसे ढूंढ निकाला.

थावल थाना प्रभारी को धमकी देने वाले छुटभैया नेता को अब पुलिस ने पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार कर जेल की हवा खिला दी है. पुलिस ने लिकायत के पास से एक स्विफ्ट कार, एक तमंचा, एक खोखा व 2 जिंदा कारतूस बरामद किया है.

वायरल ऑडियो में थाना प्रभारी को दी थी धमकी

वायरल ऑडियो में कहा गया था कि “चरथावल न्यामू गांव से लियाकत नेताजी बोल रहा हूं कोतवाल साहब. मेरे ऊपर 10-12 मुकदमे लिखे हुए हैं. आपकी मेहरबानी होगी यदि आप 5-6 मुकदमे और दर्ज कर दो तो, आपका यह एहसान जिदगी भर नहीं भूलूंगा.” वायरल आडियो में लियाकत आगे कहता सुनाई दे रहा है कि ”इंस्पेक्टर मैं तेरी नौकरी खा जाऊंगा, मेरे बारे में पता कर लो मैं बड़ा नेताजी हूं. मेरे खिलाफ मुकदमा लिखा है फिर भी हिम्मत है तो मुझे गिरफ्तार करके दिखाओ, मैंने बड़े-बड़े बाहुबली नेता तैयार किए हैं. तुम्हारी सर्विस पर लाल कलम चलवा दूंगा. अब आप थाने के चार दिन के मेहमान हो.”

ऑडियो वायरल होने के बाद चरथावल थाना प्रभारी महेंद्र पाल सिंह ने छुटभैया नेता की तलाश शुरू की. शाम 4 बजे के करीब पुलिस को मुखबिर द्वारा सूचना मिली की लिकायत अपने साथियों के साथ कहीं जाने की फिराक में है. सूचना पर हिंडन पुलिस चौकी इंचार्ज मोहित तेवतिया व दधेडु चौकी इंचार्ज संजय राणा ने पुलिस टीम के साथ घिस्सूखेड़ा झाल कुटेसरा नहर पटरी पर चेकिंग अभियान शुरू कर दिया. चेकिंग के दौरान पुलिस ने एक स्विफ्ट कार को रुकने का इशारा किया तो लिकायत ने पुलिस टीम ओर फायरिंग करते हुए भागने का प्रयास किया, पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद उसे. उसके दो अन्य साथी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए.

Check Also

17 अगस्त से शुरू होगा यूपी विधानसभा का मानसून सत्र, कोरोना प्रोटोकॉल का किया जाएगा पालन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र 17 अगस्त से शुरू होगा. विधानसभा सत्र में …