तेजस्वी का चैलेंज, कहा- यदि ‘औकात’ है तो पटना यूनिवर्सिटी को दिलाएं केंद्रीय दर्जा

पटना: बिहार की राजनीति में एक बार फिर ‘औकात’ की बात उठी है. इससे पहले बिहार में विधानसभा चुनाव से पूर्व तत्कालीन डीजीपी ने सुशांत मुद्दे में रिया को लेकर ‘औकात’ शब्द का इस्तेमाल किया था. जिसके बाद बहुत ज्यादा हंगामा भी हुआ था. तब तत्कालीन DGP गुप्तेश्वर पांडेय ने अपनी सफाई दी थी. लेकिन इस बार केस पूरी तरह से अलग है और इस बार नेता प्रतिपक्ष और राजद नेता तेजस्वी यादव ने बिहार की राजनीति में औकात शब्द का इस्तेमाल करते हुए नीतीश सरकार सहित एनडीए के सांसद, नेताओं और मंत्रियों को सीधी चुनौती दे डाली है.

दरअसल तेजस्वी यादव ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए एनडीए सरकार से पटना यूनिवर्सिटी को केंद्रीय यूनिवर्सिटी का दर्जा दिलाने की चुनौती देते हुए औकात की बात कह डाली है. तेजस्वी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि- बिहार की डबल इंजन सरकार, NDA के अनेक दलों, NDA के 40 में से 39 लोकसभा सांसदों, 9 राज्यसभा सांसदों, बिहार से केन्द्र में आधा दर्जन मंत्रियों, दो-दो उपमुख्यमंत्रियों और सीएम की क्या इतनी नैतिक और सियासी औक़ात है कि पटना यूनिवर्सिटी को केंद्रीय यूनिवर्सिटी का दर्जा दिला सके?

आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि बता दें कि अक्टूबर 2017 में जनता दल यूनाइटेड (JDU) और बीजेपी (भाजपा) की बिहार में सरकार बनने के बाद एक प्रोग्राम में पीएम नरेंद्र मोदी ने पटना यूनिवर्सिटी को दुनिया की श्रेष्ठ यूनिवर्सिटी बनाने के लिए प्रयास करने का दावा किया था.

Check Also

बोरवेल में कल दिखी लाश, अबतक उसी में:औरंगाबाद में नानी के पास सोए मासूम को अगवा कर मार डाला, लोगों के गुस्से से पुलिस नहीं उठा पा रही लाश

औरंगाबाद के उपहारा में दो दिन पहले अगवा हुए मासूम की लाश पुनपुन नदी किनारे …