तीन युवक सेक्टर-9 की रेडिमेड दुकान से चुन-चुन कर ले गए जींस, काॅटन पेंट और कमीजें

 

अम्बाला सिटी | सेक्टर-9 के हाउसिंग बोर्ड एरिया में दुकान से कपड़े उठाते व बोरोें में भरकर ले जाते युवक।

  • सेक्टर-9 व 10 में 12 दिन में चाेरी की 5वीं घटना, सेक्टर में थाना तो बनाया लेकिन स्टाफ पर्याप्त नहीं

सेक्टर-9 हाउसिंग बोर्ड के मकान नंबर 1594-डी स्थित रेडिमेड कपड़ों की दुकान में रविवार रात चोरी हो गई। दर्जी अपेरल (परिधान) नाम की इस दुकान में हुई चोरी के बारे में मालिक को रविवार सुबह करीब साढ़े सात बजे पड़ोसी ने फोन करके बताया। दुकान की सीसीटीवी फुटेज में तीन चाेर नजर आए। पुलिस ने दुकानदार आकाश की शिकायत पर केस दर्ज किया है। पिछले 12 दिनों में सेक्टर-9 व 10 में यह पांचवीं चोरी है। वहीं, पुलिस की मुश्किल ये है कि सेक्टर-9 की चौकी को थाना तो बना दिया गया, लेकिन स्टाफ अभी चौकी जितना ही है।

दुकानदार आकाश ने बताया कि वह शनिवार को दुकान रात करीब आठ बजे बंद करके घर चला गया था। सुबह साढ़े 7 बजे उसके पड़ोसी मनीष ने फोन पर बताया कि उसकी दुकान की ऊपर वाले हिस्से वाली सीढ़ी के गेट का कुंडा टूटा हुआ है और दरवाजा खुला पड़ा है। जब वह दुकान पर गया तो उसने देखा कि दुकान का शटर व ताला ठीकठाक है।

जबकि ऊपर दुकान से करीब 45 से 50 जींस, 24 काॅटन पेंट व कमीज करीब 70 से 80, 12 जैकेट, 30 जूते व 13 पीस जेंट्स स्लीपर चोरी हो गए हैं। उसने जब दुकान में लगे सीसीटीवी की फुटेज चेक की तो उसमें नजर आया कि शनिवार-रविवार रात करीब 12:50 बजे तीन युवक दुकान में घुसते हैं, जो 1 बजकर 20 मिनट तक वहां रहे। युवकों ने गेट की कुंडी तोड़कर अंदर घुसते हुए पॉलीथिन बैग में सारा सामान डाला और चोरी कर ले गए।

घटना सीसीटीवी में कैद: सीढ़ियों की कुंडी तोड़ते वक्त गाड़ी की लाइट पड़ी तो दुबक गए, कपड़े छांट कर लिफाफों में भरे

दुकान के बाहर व अंदर लगे सीसीटीवी में नजर आ रहा है कि तीनों चाेराें ने मुंह पर रूमाल बाधा था। करीब 12:53 बजे पर दो चोर दुकान की सीढ़ियों के कुंडे व कब्जे को तोड़ने के लिए पहुंचते हैं। तभी किसी वाहन की लाइट पड़ी तो इनमें से एक नीचे बैठ जाता है तो दूसरा शटर के सामने ही खड़ा रहता है लेकिन लाइट की रोशनी ज्यादा होने पर वह भी नीचे दुबक जाता है। इसके बाद वे दोनों मिलकर दरवाजे की कुंडी तोड़ते हैं। दुकान के अंदर तीन युवक नजर आते हैं। एक ने चश्मा पहना हुआ था। वे छांटकर साइज के हिसाब से कपड़े निकालते हैं। दुकान से निकाले इन कपड़ों, जूतों व चप्पल को तीन बड़े लिफाफों में भरकर दुकान की सीढ़ियों से उतरते हैं। 1 बजकर 20 मिनट पर जब ये लिफाफे लेकर दुकान से बाहर आते हैं तब भी एक वाहन की रोशनी पड़ने पर दुबक जाते हैं।

यहां भी हाे चुकी चाेरी

29 सितंबर : सेक्टर-10 हाउसिंग बोर्ड में मकान नंबर 1847 में।

30 सितंबर : सेक्टर-10 में रिटायर्ड प्रिंसिपल संतोष रानी के मकान नंबर 427 में।

एचडीएफसी बैंक कर्मी आशीष के सेक्टर-9 के मकान नं. 2120 में।

सेक्टर-10 के मकान नंबर 42 में रहने वाले आढ़ती एसो. जिला प्रधान दूनी चंद बीमारी के घर में

 

Check Also

अगले साल फरवरी तक भारत की आधी आबादी हो सकती है कोरोना से संक्रमित- सरकारी पैनल

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप अभी भी जारी है. अब महामारी के …