तीन महीने के अंदर रिपाेर्ट देने का आदेश:समाहरणालय, अनुमंडल, अंचल और प्रखंड कार्यालयों की बढ़ेगी सुरक्षा

 

  • सुरक्षा व्यवस्था का आकलन कर कार्य योजना तैयार करने राज्य और जिलास्तरीय कमेटियों का गठन

राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्रों के प्रखंड सह अंचल कार्यालयों और शहरी क्षेत्रों में स्थित अनुमंडल कार्यालय व समाहरणालय की सुरक्षा कड़ी करेगी। साथ ही, इनकी सुरक्षा को सूचना तकनीक से भी जाेड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी गई है। संबंधित कार्यालयों की सुरक्षा का आकलन करने और सुरक्षा से जुड़ी कार्य योजना तैयार करने के लिए लिए द्विस्तरीय (राज्य व जिला) समिति गठित की गई है।

राज्यस्तरीय कमेटी तीन माह के भीतर कार्ययोजना को लागू करने को लेकर अपनी रिपोर्ट देगी। यह समिति सभी जिलों के उपायुक्तों, एसएसपी और पुलिस अधीक्षकों की सहायता से राज्य के सभी प्रखंड और अंचल कार्यालयों, अनुमंडल कार्यालयों तथा समारहणालयों की वास्तविक सुरक्षा आवश्यकता तथा वर्तमान सुरक्षा व्यवस्था का स्पष्ट आकलन कर उसका निर्धारित करेंगी।

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद शुरू कर दी गई है आवश्यक कार्रवाई

राज्य स्तरीय समिति में गृह विभाग के प्रधान सचिव या सचिव को अध्यक्ष बनाया गया है जबकि अपर पुलिस महानिदेशक (अभियान), डीआईजी, विशेष शाखा के अलावा प्रधान सचिव भवन निर्माण विभाग, सूचना प्रौद्योगिकी एवं ई-गवर्नेस विभाग, प्रधान सचिव, ग्रामीण विकास विभाग एवं प्रधान सचिव, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग द्वारा नामित एक -एक सीनियर अफसर इसके सदस्य हाेंगे।

सूचना तकनीक का भी इस्तेमाल

जिला स्तरीय समिति सभी प्रखंड और अंचल अंचल कार्यालयों, अनुमंडल कार्यालयों तथा समारहणालयों की सुरक्षा व्यवस्था के लिए आवश्यकतानुसार सुरक्षा बल एवं सूचना तकनीकी की आवश्यकताओं का आकलन कर योजना तैयार कर राज्य स्तरीय समिति को उपलब्ध करायेगी। समय-समय पर राज्य स्तरीय समिति जांच करेगी।

अफसरों को उग्र आंदोलनकारियों से भी मिलेगी सुरक्षा

राज्य के विभिन्न जिला समाहरणालयाें के साथ ही अनुमंडल , प्रखंड एवं अंचल कार्यालयों कई बार काफी संख्या में आंदोलनकारियों के साथ ही अन्य लाेग भी पहुंच जाते हैं। कभी कभी आंदोलनकारी उग्र भी हाे जाते हैं। वे हंगामा करने पर उतर जाते हैं। ऐसे में इन कार्यालयों और अफसरों की सुरक्षा का खतरा बढ़ जाता है।

माना जा रहा है कि इसे ध्यान में रखते हुए ही इन परिस्थितियों को राेकने और इन परिसरों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर कार्ययोजना तैयार किया जा रहा है। इस सुरक्षा व्यवस्था में सूचना तकनीक के उपयोग से भी सुरक्षा की स्थिति और बेहतर हाे पाएगी। इससे सुरक्षा तो मजबूत होगी ही आवश्यकता पड़ने पर उपद्रवियों को भी ट्रेस करने में मदद मिलेगी।

 

Check Also

धनबाद के रेल SP आवास के पास लगी भीषण आग:सिग्नल केबल के 100 बंडल से ज्यादा तार हुए राख, 4.30 घंटे बाद दमकल की 5 गाड़ियां भी नहीं पा सकी हैं काबू, DRM ने दिए जांच के आदेश

  धनबाद के हिल कॉलोनी स्थित रेल SP आवास से सटे हिस्से में भीषण आग …