डॉक्टर कफील की रिहाई की मांग कर रहे कांग्रेस नेता ने कहा- संसद में रोने वाला यूपी का सीएम, सावरकर पर भी की टिप्पणी

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में भड़काऊ भाषण देने के आरोप में रासुका के तहत जेल में बंद डॉक्टर कफील खान की रिहाई की मांग को लेकर कांग्रेस अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश के हर जिले में प्रदर्शन कर रही है। सोमवार को गोरखपुर मोर्चा के चेयरमैन शहनवाज आलम ने सीएम योगी आदित्यनाथ बड़ा हमला बोला है। उन्होंने संसद में रोते हुए सीएम योगी का पोस्टर जारी करते हुए कहा कि यूपी बहादुरों की धरती है। यहां आज तक ऐसा नेता नहीं पैदा हुआ जो जेल से छूटने के बाद संसद में जाकर भकर भकर रोए। लेकिन रोना इनकी परंपरा है। सावरकर भी अंग्रेजों के सामने माफी मांगकर छूटे थे। रोने वाला आदमी आज प्रदेश का मुख्यमंत्री है।

कफील पर बदले की भावना से लिखा गया मुकदमा
शहनवाज ने कहा कि, डॉक्टर कफील खान पर बदले की भावना से मुकदमा लिखा गया है। इसलिए राजनीतिक दलों की जिम्मेदारी बनती है कि वे आवाम के पास जाएं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। कांग्रेस पार्टी ने संविधान के अधिकारों को बचाने के लिए जनता के बीच है। डॉक्टर कफील की रिहाई की मांग को लेकर कांग्रेस अल्‍पसंख्‍यक मोर्चा 22 जुलाई से 12 अगस्‍त तक एक अभियान चला रहा है।

सीएए व एनआरसी को लेकर सपा बैकफुट पर
शहनवाज ने कहा कि, सीएए और एनआरसी को लेकर सपा बैकफुट पर रही है। अखिलेश यादव की बेटी एक दिन लखनऊ के घंटाघर पर चली गई थी तो अखिलेश ने सफाई दी कि उनका इस आंदोलन से कोई लेना देना नहीं है। उनकी बेटी वहां घूमने गई है। मुसलमान देख रहा है कि सीएए और एनआरसी के मामले में कांग्रेस और सपा क्‍या कर रही है? मुसलमानों ने मन बना लिया है कि वो कांग्रेस के साथ खड़ी है। मुस्लिम देख रहा है कि बसपा और सपा अध्‍यक्ष किस तरह से भाजपा के साथ बार-बार खड़ी हो जा रही हैं।

Check Also

गाजियाबादः थाने में हुई मारपीट के आरोपी की मौत, पुलिस पर उठे सवाल, कौन देगा जवाब ?

गाजियाबाद : गाजियाबाद पुलिस क्या पुलिस स्टेशन में लाने के बाद लोगों को करती है प्रताड़ित, …