ट्राॅयल सक्सेस:सिविल में एनेस्थीसिया के डॉक्टर नहीं, प्राइवेट ताैर पर तीन हायर किए, आयुष्मान कार्ड वालों का फ्री इलाज

 

इसके अलावा सिविल अस्पताल में महिलाओं की होने वाली डिलीवरी और सिजेरियन फ्री है। - Dainik Bhaskar

इसके अलावा सिविल अस्पताल में महिलाओं की होने वाली डिलीवरी और सिजेरियन फ्री है।

  • आज से सिविल अस्पताल में इलेक्टिव सर्जरी होगी शुरू, भीड़ न हो इसलिए एक-एक मरीजों को बुलाया जाएगा
  • ऑपरेशन थिएटर में ट्रॉयल के तौर पर एक मरीज के सिर से निकाली गई रसोली
  • इलेक्टिव सर्जरी के तहत हर्निया, बच्चेदानी में रसोली समेत 15 तरह के ऑपरेशन किए जाएंगे

आज से सिविल अस्पताल में ढाई महीने बाद इलेक्टिव सर्जरी तो शुरू की जा रही है। लेकिन मौजूदा समय में ऑपरेशन से पहले मरीज को बेहोश करने के लिए टीका लगाने वाला सरकारी तौर पर एक भी एनेस्थीसिया डाॅक्टर नहीं है, लेकिन मरीजों की सुविधा को देखते हुए सेहत विभाग ने प्राइवेट तौर पर 3 एनेस्थीसिया डॉक्टर्स को हायर किया है जो अपनी सेवा सिविल अस्पताल में देंगे।

इलेक्टिव सर्जरी के तहत हार्निया, पेंडिक्स, बच्चेदानी में रसोली, बवासीर, कान, आंख, मुंह की सर्जरी, आर्थो ऑपरेशन समेत 15 तरह के किए जाएंगे। जिन मरीजों का आयुष्मान कार्ड नहीं बना है उन्हें ऑपरेशन करवाने से पहले प्राइवेट तौर पर हायर किए गए एनेस्थीसिया को 2500 रुपए देने पड़ेंगे। अगर मरीज का आयुष्मान कार्ड बना है तो सरकार, प्राइवेट एनेस्थीसिया को 1700 रुपए देगी।

इसके अलावा सिविल अस्पताल में महिलाओं की होने वाली डिलीवरी और सिजेरियन फ्री है। बता दें कि सिविल अस्पताल में एनेस्थीसिया की 4 पोस्टे हैं। इनमें दो एनेस्थीसिया ने ज्वाइन नहीं किया था। जबकि अन्य दो में से एक का ट्रांसफर हो गया था। मौजूदा समय में एक एनेस्थीसिया भी मैटरनिटी लीव पर चल रही है।

आम दिनों में सिविल में 10 से 15 इलेक्टिव सर्जरी और 10 सिजेरियन रोजाना होतीं हैं

सोमवार को सिविल अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर में ट्रायल के तौर पर एक मरीज के सिर की रसोली का सफल ऑपरेशन किया गया। इसके अलावा स्टाफ ने पेंडिंग चल रहे लोगों से सम्पर्क कर ऑपरेशन के लिए सप्ताह में डे-वाइज टाइम देकर आने को कहा है, ताकि लोगों की इलेक्टिव सर्जरी की जा सके।

एसएमओ डाॅ. राकेश सरपाल का कहना है कि जिले में एनेस्थीसिया डाक्टरों की पहले से कमी चल रही है। अस्पताल प्रबंधन ने सरकार को लिखा है। सिविल में ऑपरेशन का काम न रूके, इसके लिए प्राइवेट तौर पर 3 एनेस्थीसिया हायर किए गए हैं। सिविल अस्पताल में रोजाना 10 से 15 इलेक्टिव सर्जरी और 10 सिजेरियन होते हैं।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

कोरबा पुलिस की ‘नीली बत्ती’ का सुरूर:अफसर को रायपुर छोड़कर लौटते तो खुद बन जाते पुलिस वाले; ट्रैक्टर चालक से लूटे रुपए और मोबाइल तो जांजगीर में पकड़े गए

आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि जब्त की गई कोरबा पुलिस की ओर …