ट्रंप ने बाइडेन को बताया इतिहास का सबसे खराब उम्मीदवार, क्या काम आएगी ये रणनीति?

नई दिल्ली : अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव 2020 (US Presidential election 2020) के प्रचार अभियान में रिपब्लिकंस और डेमोक्रेट्स के बीच जुबानी जंग लगातार तेज और तीखी होती जा रही है. ताजा मामले में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने एक बार फिर अपने प्रतिद्वंदी ‘जो-बाइडेन’ (Democratic candidate Joe Biden) को देश के चुनावी इतिहास का सबसे खराब उम्मीदवार बताया है.

ट्रंप ने उत्तरी केरोलाइना (North Carolina) के ग्रीनविले (Greenville) में आयोजित चुनावी रैली में कहा कि उन पर इस बात का अतिरिक्त दबाव है कि वो एक ऐसे शख्स से नहीं हार सकते जो इतना बुरा हो. ट्रंप के मुताबिक अगर बाइडेन की जगह कोई और ढंग का प्रत्याशी होता तो ये उनके लिए ज्यादा बेहतर होता.

प्रचार में चीन की चर्चा
ट्रंप ने कहा कि अगर बाइडेन जीत गए तो ये चीन की जीत होगी, और अगर हम जीते तो ये जीत नॉर्थ करोलाइना की होगी और पूरे अमेरिकी जनमानस की जीत होगी. राष्ट्रपति ने इस रैली के दौरान भी बाइडेन को एक भ्रष्ट राजनेता बताते हुए जनता से खुद के लिए भारी समर्थन की अपील की.

फिर चार साल…
ग्रीनविले की रैली में ट्रंप के समर्थकों ने उनके लिए फिर एक बार ट्रंप सरकार की थीम पर उनके पिछले कार्यकाल को एतिहासिक बताते हुए उन्हे और चार साल के लिए देश की कमान देने के लिए नारेबाजी की.

 

ट्रंप की रणनीति
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चाहे चुनावी डिबेट में हों, चुनावी रैली संबोधित कर रहे हों या फिर किसी मीडिया हाउस को इंटरव्यू देना हो, वो हर जगह बाइडेन को एकदम कमजोर उम्मीदवार बताकर अपनी बात शुरू करते हैं. यूएस (US) के चुनावी जानकारों के मुताबिक इस रणनीति के साथ ट्रंप खुद को काबिल और मजबूत उम्मीदवार बताने के साथ विरोधी उम्मीदवार को कमजोर साबित करते हुए रेस में एक कदम आगे निकलने की कोशिश करते हैं.

Check Also

मैट डेमन का कारों के प्रति खास आकर्षण नहीं

लॉस एंजेलिस : हॉलीवुड स्टार मैट डेमन ने स्वीकार किया है कि उन्हें कार के …