टॉप मॉल बिक्री में बुरी तरह पिछड़े, प्री-कोविड लेवल तक पहुंचने में लगेगा लंबा वक्त

 

 

 

कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान बिक्री में सबसे ज्यादा गिरावट देश के टॉप मॉल को देखने को मिला है. फेस्टिवल सीजन के दौरान दिसंबर तिमाही में देश के टॉप मॉल की बिक्री में सबसे ज्यादा गिरावट दर्ज की गई. इस दौरान इसमें 20 से 35 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. फीनिक्स के मुताबिक रिटेल पोर्टफोलियो का इसका कंजम्पशन 66 फीसदी है, जबकि डीएलएफ और विवियाना ने इस तिमाही के दौरान सेल के 80 से 85 फीसदी रहने की ही बात कही है.

 

इस साल अक्टूबर में सेल प्री-कोविड लेवल तक पहुंच सकती है – डीएलएफ

डीएलएफ का कहना है उसे अगले फेस्टिवल सीजन यानी अक्टूबर में ही सेल के प्री-कोविड लेवल तक पहुंचने की उम्मीद है. डीएलएफ के कुल छह मॉल हैं. इनमें दो सुपर लग्जरी मॉल राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हैं. वैसे विवियाना मॉल और दिल्ली स्थित वेगास मॉल को इस तिमाही तक रिकवरी होने की उम्मीद है. इकनॉमिक टाइम्स की एक खबर के मुताबिक आईआईएफएल सिक्योरिटीज की रिपोर्ट में कहा गया है कि बेंगलुरू में फोरम और ओरियन और मुंबई में नेक्सस और इन-ऑरबिट में कंजम्पशन अभी भी 80 फीसदी के लेवल पर है.

 

मॉल, रिटेलरों को दे रहे हैं रेंट में छूट

मॉल अपनी बिक्री को पटरी पर लाने के लिए रिटेलर को रेंट में छूट देने की शुरुआत कर रहे हैं. दरअसल सबसे ज्यादा असर ब्रांड्स पर पड़ा है. इनकी बिक्री में काफी गिरावट हुई है. ब्रांड्स की बिक्री कुल बिक्री की 70 से 75 फीसदी के बीच ही पहुंच पाई है. मॉल्स में छूट का सिलसिला इस बार दिसंबर तक चला है और आगे भी इसके जारी रखने की गुंजाइश है. मॉल डेवलपर और ऑपरेटर फीनिक्स मॉल का कहना है कि लॉकडाउन और कोरोना वायरस संक्रमण के लगातार बढ़ते जाने से कंज्यूमर मॉल में नहीं आ रहे हैं.

Check Also

आजादी की 75वीं सालगिरह के 75 हफ्ते पहले से जश्न:2022 तक प्रति व्यक्ति GDP 57% बढ़ाने की तैयारी, 75 करोड़ लोगों को जोड़ेंगे

भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने की हीरक जयंती के आखिरी 75 हफ्ते …