टूलकिट केस:दिल्ली पुलिस ने क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा की 5 दिन की रिमांड मांगी; निकिता और शांतनु से भी पूछताछ जारी

दिल्ली पुलिस ने 14 फरवरी को क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि को अरेस्ट किया था। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

दिल्ली पुलिस ने 14 फरवरी को क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि को अरेस्ट किया था। (फाइल फोटो)

किसान आंदोलन से जुड़े टूलकिट मामले में दिल्ली पुलिस ने सोमवार को क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि को चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया। पुलिस ने दिशा की 5 दिन की रिमांड मांगी है। इससे पहले शुक्रवार को दिशा की रिमांड 3 दिन बढ़ा दी गई थी, जो आज पूरी हो रही है। वहीं, मामले में सह-आरोपी निकिता जैकब और शांतनु मुलुक भी साइबर सेल पहुंचे। दोनों को पूछताछ के लिए दिल्ली पुलिस ने बुलाया है।

आमने-सामने बैठाकर पूछताछ करेगी पुलिस
पुलिस दिशा, शांतनु और निकिता को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ करना चाहती है। इसकी वजह पुलिस ने यह बताई थी कि दिशा ने मामले में सारे आरोप शांतनु और निकिता पर डाल दिए थे।

जमानत अर्जी पर सुनवाई कल
इससे पहले दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने शुक्रवार को दिशा की जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया था। कोर्ट इस पर कल (23 फरवरी) फैसला सुना सकती है। सुनवाई के दौरान पुलिस ने कोर्ट को बताया था कि भारत को बदनाम करने की ग्लोबल साजिश में दिशा भी शामिल है। किसान आंदोलन की आड़ में माहौल बिगाड़ने की कोशिश थी। दिशा ने न सिर्फ टूलकिट बनाई और शेयर की, बल्कि वह खालिस्तान की वकालत करने वाले के संपर्क में भी थी। खालिस्तानी संगठनों ने दिशा का इस्तेमाल किया। हालांकि दिशा के वकील ने इन आरोपों को निराधार बताया था।

14 फरवरी को दिशा को अरेस्ट किया गया था
दिल्ली पुलिस ने 14 फरवरी को दिशा को अरेस्ट किया था। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, फ्राइडे फॉर फ्यूचर कैम्पेन शुरू करने वालों में शामिल दिशा ने टूलकिट का गूगल डॉक बनाकर उसे सर्कुलेट किया। इसके लिए उन्होंने वॉट्सऐप ग्रुप बनाया था। वे इस टूलकिट की ड्राफ्टिंग में भी शामिल थीं और उन्होंने ही ग्रेटा थनबर्ग से टूलकिट शेयर की थी।

 

Check Also

रात के अंधेरे में लूट:सड़क किनारे टॉयलेट करने रुके युवक को बदमाशों ने घेरा, चाकू मारकर मोबाइल और रुपए छीनकर भागे

  इस मामले में पुलिस घटना स्थल के आस-पास के CCTV कैमरों के जरिए आरोपियों …