जॉर्डन में ‘तख्तापलट’ की साजिश विफल, प्रिंस हमजा नजरबंद

अम्मान/ यरूशलम : जॉर्डन के राजा अब्दुल्ला द्वितीय के सौतेले भाई हमजा ने कहा है कि वह घर में नजरबंद हैं और उन्होंने देश की सत्तारूढ़ व्यवस्था पर अक्षमता और भ्रष्टाचार का आरोप लगाया. पश्चिम एशिया में अमेरिका के प्रमुख सहयोगी जॉर्डन में सत्तारूढ़ राजशाही के भीतर कलह का यह दुर्लभ मामला है.

प्रिंस हमजा का यह वीडियो संदेश शनिवार को आया. इससे पहले देश की आधिकारिक समाचार एजेंसी ने बताया कि दो पूर्व वरिष्ठ अधिकारियों और अन्य संदिग्धों को सुरक्षा कारणों से गिरफ्तार कर लिया गया है. हालांकि अधिकारियों ने हमजा को नजरबंद करने या हिरासत में लेने से इनकार कर दिया था.

बीबीसी के पास उपलब्ध एक वीडियो में पूर्व क्राउन प्रिंस ने कहा कि देश के सैन्य प्रमुख शनिवार तड़के उनके पास आए और उन्हें बताया कि उन्हें बाहर जाने, लोगों से बातचीत करने या उनसे मुलाकात करने की इजाजत नहीं है.

उन्होंने बताया कि उनका फोन तथा इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं. उन्होंने बताया कि वह उपग्रह इंटरनेट से बात कर रहे हैं और उन्हें इस सेवा के भी बंद होने की आशंका है.

हमजा ने बताया कि उन्हें सूचित किया गया कि उन्हें उन बैठकों में शामिल होने की सजा दी गईं, जिनमें राजा की आलोचना की गई थी. हालांकि उन पर आलोचना में शामिल होने का आरोप नहीं है.

जॉर्डन का विद्वेषपूर्ण षड्यंत्र विफल करने का दावा
वहीं, जॉर्डन ने दावा किया है कि उसने विद्वेषपूर्ण षड्यंत्र को विफल कर दिया है. विदेश मंत्री अयमान सफादी ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही. एक दिन पहले प्रिंस हमजा को नजरबंद किया गया था.

सफादी ने कहा कि जॉर्डन के खुफिया विभाग ने कुछ संवाद पकड़े थे, जिसे उन्होंने ‘जीरो आवर’ बताया. सफादी ने कहा, इसके बाद स्पष्ट हो गया कि वे षड्यंत्र के बाद कार्रवाई की योजना बना रहे थे. उन्होंने बताया कि 14 से 16 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

जॉर्डन के समर्थन में आए कई देश
जॉर्डन के शासक अब्दुल्ला द्वितीय की उनके सौतेले भाई हमजा द्वारा अप्रत्याशित रूप से सार्वजनिक तौर पर आलोचना किए जाने के बाद अब्दुल्ला का कई देशों ने समर्थन किया है.

उल्लेखनीय है कि हमजा ने देश चलाने के तौर तरीके को लेकर अब्दुल्ला की आलोचना की और उनपर भ्रष्टाचार में संलिप्त होने तथा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं देने का आरोप लगाया है.

अब्दुल्ला द्वारा हमजा को नजरबंद किये जाने के बाद भी उनके (अब्दुल्ला के) प्रति यह समर्थन जॉर्डन के रणनीतिक महत्व को रेखाांकित करता है.

इस बीच अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा, अब्दुल्ला अमेरिका के अहम साझेदार हैं और उन्हें हमारा पूरा समर्थन है.

अमेरिका जॉडन को अपना अहम सहयेागी मानता है और वह उसे सैन्य उपकरण एवं सहायता प्रदान करता है.

अमेरिका समर्थक खाड़ी के अरब देशों ने भी अब्दुल्ला के समर्थन में बयान जारी किए. सऊदी प्रेस एजेंसी ने कहा कि देश का राज परिवार अब्दुल्ला के सुरक्षा के प्रयासों का समर्थन करता है. बहरीन, कुवैत, कतर और संयुक्त अरब अमीरात ने अब्दुल्ला के समर्थन में बयान जारी किया.

Check Also

पाकिस्तान के लोगों को इजरायल जाने की इजाजत नहीं, पासपोर्ट पर है ये चेतावनी, जानिए क्यों

नई दिल्लीः इजरायल और फिलिस्तीन के बीच चल रहे खूनी खेल के छींटे इतिहास में दर्ज …