जुलूस निकाले जा रहे, धरने-प्रदर्शन हो रहे; ऐसे में दुर्गापूजा के लिए भी मिलनी चाहिए छूट

 

पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी। (फाइल)

  • भाजपा नेता ने पूछा-क्या हिंदुओं का मुख्य त्योहार दुर्गापूजा का औचित्य चुनावी पर्व से कम है?

पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा है कि आए दिन विभिन्न संगठनों की ओर से जुलूस निकाले जा रहे हैं। धरने-प्रदर्शन हो रहे हैं। ऐसे में दुर्गापूजा के लिए भी सरकार को छूट देनी चाहिए। बाबूलाल मरांडी ने शनिवार को मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में यह आग्रह किया है।

बाबूलाल मरांडी ने मुख्य सचिव के ध्यानार्थ भी इस पत्र को भेजा है। मरांडी ने पत्र में लिखा- हाजी हुसैन के जनाजे में भारी भीड़ थी। खुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी इसमें शामिल थे। सोशल डिस्टेंस कहीं नजर नहीं आया। उधर, चुनाव आयोग ने भी झारखंड में राजनीतिक पार्टियों को चुनावी सभा की अनुमति दी है। इसमें हजारों लोग शामिल हो रहे हैं।

सवाल करते हुए पूछा- क्या हिंदुओं का मुख्य त्योहार दुर्गापूजा का औचित्य चुनावी पर्व से कम है? बाबूलाल मरांडी ने कहा है कि ऐसे में निषेधाज्ञा पत्रांक संख्या 890 सीएस दिनांक 7 अक्टूबर 2020 निरस्त होना चाहिए, ताकि लोग सामाजिक दूरी बनाते हुए दुर्गापूजा मना सकें।

 

Check Also

तेज रफ्तार बाइक दीवार से टकराई, दो युवकों की घटनास्थल पर मौत; दोनों ने हेलमेट नहीं पहना था

  पुलिस ने दोनों ही युवकों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है। …