जसप्रीत बुमराह ने बताई छोटे रन अप और अपने अनूठे बॉलिंग एक्शन की वजह

भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार पेसर जसप्रीत बुमराह वर्तमान क्रिकेट में बेस्ट तेज गेंदबाजों में शुमार होते हैं। बहुत कम वक्त में उन्होंने अपनी मेहनत और लगन के दम पर काफी कुछ हासिल कर लिया है। बुमराह का अनूठे बॉलिंग एक्शन और छोटे रन अप को लेकर अक्सर चर्चा होती रहती है। उन्हें अपने बॉलिंग एक्शन की वजह से कई बार आलोचना का भी सामना करना पड़ता है, लेकिन उन्हें इससे फर्क नहीं पड़ता है। बुमराह ने आज जो मुकाम हासिल किया है, वह अपने दम पर किया है।

बुमराह ने अपने अनूठे गेंदबाजी एक्शन के लिए कहा, “क्रिकेट खेलने की शुरुआत में मैं कभी किसी प्रोफेशनल कोच के पास नहीं गया था। जो भी मैंने सीखा खुद ही सीखा। मैंने जो भी देखा और सीखा वो सब टीवी और वीडियो देख कर सीखा इसलिए मुझे नहीं पता यह एक्शन कैसे आया। हमेशा कुछ लोग शक करते थे कि मुझे इस एक्शन को बदलना चाहिए या नहीं, लेकिन मैंने वास्तव में कभी भी उनकी बात नहीं सुनी है और मुझे हमेशा विश्वास था कि यह काम कर सकता है।”

बुमराह ने छोटे रन अप का का खोला राज
उन्होंने अपने छोटे रन अप का रहस्य बताते हुए भी कहा, “रन-अप इसलिए छोटा है क्योंकि मेरे घर के पीछे बहुत ज्यादा जगह नहीं थी और हम बचपन में वहीं खेलते थे। वहां बहुत लम्बा रन अप लेने की जगह नहीं थी और छोटे रन अप का शायद यही कारण हो सकता हैं।”

छोटे रन अप का यह है बड़ा फायदा
बुमराह ने कहा, “जब मैं टेस्ट मैच खेलता हूं तो छोटे रन अप से मुझे मदद मिलती है, क्योंकि जब मैं अपना चौथा या पांचवां स्पैल डालता हूं तो मैं उन गेंदबाजों की तुलना में ज्यादा तरोताजा होता हूं, जो मेरे साथ खेलते हैं और लम्बे रन-अप करते इस्तेमाल करते हैं।”

 

 

न्यूजीलैंड के बाद से बुमराह ने नहीं की गेंदबाजी
किसी भी तेज गेंदबाज के लिए लय में होना बहुत महत्वपूर्ण है और बुमराह ने न्यूजीलैंड के खिलाफ हुई टेस्ट सीरीज के बाद से अबतक गेंदबाजी नहीं की है। इसको लेकर उन्होंने कहा कि वह कड़ी मेहनत कर रहे है ताकि क्रिकेट के फिर से शुरू होने से पहले थोड़ी बहुत लय हासिल कर लें।

हफ्ते में 6 दिन प्रैक्टिस कर रहा हूं, लेकिन लंबे समय से गेंदबाजी नहीं की
कोरोना वायरस के कारण बंद पड़ी खेल गतिविधियों के फिर से शुरू होने को लेकर तेज गेंदबाज ने कहा, “मुझे सच में नहीं पता कि यह कब शुरू होगा और जब आप दो-तीन महीने तक गेंदबाजी नहीं करते हैं तो शरीर कैसी प्रतिक्रिया देगा। इसलिए मैं लगातार अभ्यास करने की कोशिश कर रहा हूं ताकि जब भी मैदान खुले मैं थोड़ी बहुत लय हासिल कर सकूं। मैं सप्ताह के लगभग छह दिन अभ्यास कर रहा हूं, लेकिन मैंने लंबे समय से गेंदबाजी नहीं की है इसलिए मुझे नहीं पता कि जब मैं गेंदबाजी करना शुरू करूंगा तो शरीर कैसी प्रतिक्रिया देगा।”

विकेट लेने के बाद मैं बहुत अधिक उत्साहित नहीं होता
बुमराह ने विकेट लेने के बाद खिलाड़ियों के एक-दूसरे को ताली न देने पर अपनी सलाह देते हुए कहा, “विकेट लेने के बाद मैं बहुत अधिक उत्साहित नहीं होता हूं और मैं ताली देने (हाई फाइव) वाला इंसान भी नहीं हूं इसलिए मुझे एक-दूसरे को ताली देने पर प्रतिबन्ध लगाए जाने से खास परेशानी नहीं हैं।”

Check Also

‘यूनिस ने गले पर रखा था चाकू’ ग्रांट फ्लावर के दावों पर पीसीबी, पाक टीम मैनजमेंट का टिप्पणी से इनकार

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और इंग्लैंड दौरे पर गई राष्ट्रीय टीम ने पूर्व बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लावर …