जल्द पटरी पर लौटेंगी Rajdhani, Shatabdi ट्रेनें, रेलवे तैयार कर रहा प्लान

नई दिल्ली: भारतीय रेल (Indian Rail) अभी जरूरत और मांग के हिसाब से स्पेशल ट्रेनें (Special Trains) ही चला रही है. कोरोना संकट (Coronavirus) महामारी की वजह से मार्च से ही रेगुलेटर ट्रेनें बंद हैं. लेकिन अब सूत्रों के हवाले से पता चला है कि जल्द ही सभी राजधानी (Rajdhani), शताब्दी (Shatabdi), तेजस (Tejas) और हफसफर (Humsafar) ट्रेनें वापस अपने पुराने रूट्स पर दौड़ने लगेंगी.

रेलवे के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सरकार की योजना नवंबर तक सभी राजधानी, शताब्दी, तेजस और हमसफर ट्रेनों को वापस उनके मूल रूट पर दौड़ाने की है, इस दिशा में काम चल रहा है. हालांकि इन सभी ट्रेनों को बतौर ‘स्पेशल ट्रेन’ ही चलाया जाएगा. फिलहाल रेलवे 682 स्पेशल ट्रेनें और 20 क्लोन ट्रेनें चला रहा है. मिली जानकारी के मुताबिक 20 अक्टूबर से 30 नवंबर तक 416 फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें भी चलाई जाएंगी.

रेलवे सूत्रों के मुताबिक अगले महीने यानी नवंबर में रेलवे मंत्रालय कोविड-19 को लेकर हालात का जायजा लेगी, जिसके बाद बाकी मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों की संख्या को भी बढ़ाने पर फैसला किया जाएगा. दरअसल यात्री ट्रेनों के नज़रिए से रेलवे धीरे धीरे जनवरी 2021 तक सामान्य रूटीन की तरफ लौटना चाहता है, जहां अधिकतर रूट पर राजधानी से लेकर मेल या एक्सप्रेस ट्रेनें चलाई जाएं. इसके जरिये रेलवे जहां ट्रैवल डिमांड को पूरा करेगा तो वहीं, कमाई के नज़रिए से भी पिछले 7 महीने में हुए जबर्दस्त नुकसान की धीमे-धीमे भरपाई की शुरुआत करेगा.

सिक्के का दूसरा पहले ये भी है कि IRCTC को ट्रेनें नहीं चलने से भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है, ऐसे में जितनी ज्यादा ट्रेनें चलेंगी IRCTC को भी उतना ही फायदा मिलेगा.

Check Also

Onion Prices: किचन से जुड़ी अच्‍छी खबर, थमने लगीं प्‍याज की कीमतें

प्याज की कीमतों में आई तेजी सरकार की कार्रवाई के बाद घटने लगी है। आंकड़ों …