जयपुर: जलती कार से 5 लोगों को जिंदा बाहर निकाला पड़ा महंगा, पुलिस ने जान बचाने वालों पर दर्ज किया केस

जयपुर (Jaipur) में जलती कार से 5 लोगों की जान बचाना कुछ लोगों को महंगा पड़ गया. 17 फरवरी की रात हाईवे (Highway) पर एक सड़क हादसा हुआ था. दरअसल हाईवे पर कार और ट्रक की भिड़ंत के बाद कार में आग (Burning Car) लग गई थी. इस हादसे में ड्राइवर की तो मौत (Death) हो गई लेकिन 30-40 लोगों मे अपनी जान जोखिम में डालकर कार में मौजूद पांच लोगों को बाहर निकाल लिया था, जिसकी वजह से उनकी जान बच गई. लेकिन इस अच्छे काम के लिए रिवॉर्ड मिलने की जगह मदद करने वाले लोगों के लिए मुश्किल खड़ी हो गई है.

17 फरवरी को हाईवे पर ये घटना (Accident) बहलोड़ गांव के पास रात करीब 9 बजे हुई थी. जिन लोगों ने अपनी जान की परवाह न कर कार सवारों को आग से बचाया था, स्थानीय पुलिस ने उन लोगों पर राजकार्य में अड़चन डालने का केस दर्ज (Case File)किया है. कार में आग लगने की वजह से ड्राइवर (Driver) की मौत हो गई थी लेकिन स्थानीय लोगों की मदद से पांच लोगों को बचाया जा सका. इस मामले में केस दर्ज होने की बात पर पुलिस ने कहा कि जब उनकी टीम (Police Team) घटना वाली जगह पर पहुंची तो स्थानीय लोगों ने उन पर पथराव किया और उनके साथ मारपीट भी की. गुस्साए लोगों ने गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की.

हादसे के 45 मिनट बाद पहुंची पुलिस

वहीं कार हादसे में मरने वाले ड्राइवर के रिश्तेदार का कहना है कि पुसिस बिल्कुल झूठ बोल रही है उन्होंने कहा कि पुलिस घटना वाले दिन मौके पर करीब 45 मिनट बाद पहुंची थी, जबकि घटना वाली जगह थाने से सिर्फ 1 किमी ही दूर थी. उन्होंने बताया कि उनकी कार हादसे वाली कार से करीब 50 मीटर ही पीछे थी. उनके सामने ही वह हादसा हुआ था. उन्होंने कहा कि वह उन सभी कि गांव के लोगों के एहसानमंद हैं जिन्होंने अपनी जान पर खेलकर उनके परिवार के लोगों की जान बचाई.

पुलिस के साथ की गई मारपीट

वहीं जमवारामगढ़ के थाना इंचार्ज मनोज कुमार ने कहा कि हादसे की खबर के बाद जब वह मौके पर पहुचे, तो लोगों ने उनके साथ मारपीट की और उनकी गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की. पुलिस अधिकारी ने कहा कि हमले की वजह से उनकी गाड़ियों और एम्बुलेंस को काफी नुकसान हुआ. पुलिस अधिकारी ने कहा कि मारपीट की वजह से पुलिसकर्मियों रो चोट भी लगी थी. हादसे वाली जगह पर 80-90 लोगों की भीड़ थी जिन्होंने उन पर हमसा किया. और पुलिस की गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा था और पुलिसकर्मियों को चोटें भी आई थी। साथ ही घटनास्थल पर करीब 80-90 लोगों की भीड़ मौजूद थी.

Check Also

हिसार के राजकीय पशुधन फार्म कर्मी युवराज ने जीता गोल्ड मेडल

हिसार :  कैथल के पुंडरी में आयोजित 19वीं हरियाणा राज्य कराटे प्रतियोगिता में राजकीय पशुधन …