जन्मदिन मनाकर दोस्तों के साथ खदान में नहाने गए 11 साल के लड़के की मौत; पानी में फूलकर तीसरे दिन ऊपर आया शव

 

11 साल के बच्चे का पैर फिसलने से वह गहरे पानी में चला गया था।

  • बच्चा रविवार को अपना जन्मदिन मनाने के बाद अगले दिन दोस्तों के साथ खदान में नहाने गया था
  • ग्रामीण बोले- रेणुका टेकरी पर ठेकेदार ने 40 से 50 फीट गहरे गड्ढे कर दिए, सुरक्षा व्यवस्था नहीं है

दुधिया गांव के पास गहरी गिट्‌टी खदान में बुधवार तड़के 11 साल के बच्चे का शव उतराता मिला। यह बच्चा तीन दिन पहले नहाते वक्त पानी में डूब गया था। पुलिस और परिजन शव को पीएम के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। बच्चा रविवार को अपना जन्मदिन मनाने के बाद अगले दिन दोस्तों के साथ खदान में नहाने गया था। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के जवान भी बच्चे का शव नहीं तलाश सके तो परिजन ने मंगलवार शाम मावर-हरदा रोड पर चक्काजाम किया। पुलिस और प्रशासन की समझाइश के बाद माने।

दो दिन तक गोताखोर बच्चे की तलाश में जुटे रहे।

दो दिन तक गोताखोर बच्चे की तलाश में जुटे रहे।

खुड़ैल पुलिस के अनुसार, ध्रुव (11) पिता राजू मीणा निवासी असरावद है। वह सोमवार को चचेरे भाई भावेश और हर्ष के साथ नहाने गया था। पैर फिसलने से वह खदान में डूब गया तो उसके दोनों भाई घबरा गए। आधे घंटे बाद उन्होंने आसपास के लोगों को बुलाया और घर भी सूचना दी। पुलिस समेत तैराकी दल ने उसे काफी तलाशा लेकिन मंगलवार शाम तक उसे ढूंढा नहीं जा सका था। बुधवार को उसका शव मिल गया।

ग्रामीणों ने कहा- 40 फीट गहरी है खदान

ग्रामीणों ने बताया कि रेणुका टेकरी पर ठेकेदार ने 40 से 50 फीट गहरे गड्ढे कर दिए। बाउंड्री पर कोई सुरक्षा व्यवस्था नहीं है, जिससे खतरा बना हुआ है। बालक जहां डूबा था वहां इतना ही गहरा गड्ढा है। जेसीबी से रास्ता बनाकर पानी निकासी का प्रयास किया गया, लेकिन 2 फीट ही पानी निकल पाया। डीएसपी हेड क्वार्टर अजय वाजपेयी ने बताया कि गोताखोर बच्चे का शव तलाशने में जुटे रहे।

 

Check Also

सड़कों से गायब पुलिस, सिर्फ दिखावे की सख्ती बिना किसी रोकटोक के घूम रहे लोग

रात को सड़क पर नाइट कर्फ्यू के बाद भी घूमते लोग कोरोना की रोकथाम के …