जगदलपुर : घटिया गुणवत्ता के 36 लाख की डस्टबिन खरीदने में भारी भ्रष्टाचार – संजय पांडे

जगदलपुर, 8 जून (हि.स.)। भाजपा पार्षद दल ने डस्टबिन खरीदी मामले पर नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष संजय पांडे ने आरोप लगाया कि डस्टबिन खरीदने में निगम ने भारी भ्रष्ट्राचार किया है। उन्होने कहा कि बिना किसी पूर्व योजना के घटिया गुणवत्ता की डस्टबिन आनन-फानन में एमआईसी की बैठक कर इसके क्रय की स्वीकृति दे दी गई थी। प्रति नग 7 हजार रुपये की उच्चतम कीमत में 522 नग, कुल 36 लाख रुपये व्यय करना अचंभित करने वाला है।
नगर निगम नेता प्रतिपक्ष संजय पांडे ने कहा कि भाजपा पार्षद दल ने अपने प्रयासों से इसका तकनीकी जांच प्राप्त कर मौके पर जाकर डस्टबिन का निरीक्षण किया और उसके गुणवत्ता के संबंधित में जांच की तो पाया कि डस्टबिन की गुणवत्ता का मानक निम्र स्तर का है। उन्होंने बताया किस प्लायर द्वारा इसे 15 दिवस पहले डंप कर दिया गया है। अब इसको खपाने की प्रक्रिया की जा रही है। उन्होने कहा कि भाजपा पार्षद दल ने इस आशय का पत्र महापौर और आयुक्त को लिखा है, और इस क्रय आदेश को तत्काल निरस्त करने की मांग की गई है। साथ ही जो भी लोग इस कार्य में लिप्त हैं, उन पर दंडात्मक कार्रवाई की जाए तथा सप्लाई एजेंसी को ब्लैक लिस्ट किये जाने की मांग की गई है। कार्रवाई नहीं होने पर भाजपा पार्षद दल उग्र आंदोलन को मजबूर होगा।
इस मामले को लेकर नगर निगम आयुक्त प्रेम कुमार पटेल ने कहा कि डस्टबिन की गुणवत्ता को लेकर मिल रही शिकायतों के बाद एक कमेटी बनाकर जांच करवाई गई थी, जिसमें कुछ गड़बड़ी मिली है। इसकी रिपोर्ट बनाकर जेम पोर्टल में डाल दी गई है। जहां पर जेम पोर्टल संबंधित फर्म को सूचित करेगी। इसके बाद फर्म आगे की कार्रवाई करेगी। उम्मीद है कि संबंधित फर्म नई डस्टबिन भेजेगी। आयुक्त ने कहा कि अब तक जिस फर्म ने यह डस्टबिन भेजी है, उसे इसका भुगतान नहीं किया गया है। लॉकडाउन के चलते डस्टबिन के क्वालिटी की जांच प्रभावित थी।
हिन्दुस्थान समाचार
NEWS KABILA

Check Also

निर्यात को बढ़ावा देने और आयात का देश में विकल्प खोजने के लिये ही ‘आत्मनिर्भर भारत’ योजना: गडकरी

  आत्मनिर्भर भारत योजना के पीछे सरकार की मुख्य सोच निर्यात को बढ़ावा देना और …