छत्तीसगढ़ बजट सत्र LIVE:राज्यपाल का अभिभाषण पूरा, कहा – नये छत्तीसगढ़ के लिए काम कर रही सरकार, लॉकडाउन के दौरान लोगों की मदद के काम गिनाए

 

राज्यपाल के अभिभाषण के साथ विधानसभा का बजट सत्र औपचारिक रूप से शुरू हो गया। यह सत्र 26 मार्च तक चलना है। - Dainik Bhaskar

राज्यपाल के अभिभाषण के साथ विधानसभा का बजट सत्र औपचारिक रूप से शुरू हो गया। यह सत्र 26 मार्च तक चलना है।

  • बजट सत्र के पहले दिन विधायकों को संबोधित कर रही थीं राज्यपाल
  • करीब 40 मिनट के भाषण में विकास के हर क्षेत्र पर की बात, उपलब्धि गिनाईं

छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसूईया उइके ने विधानसभा के बजट सत्र को संबोधित किया। सत्र के पहले दिन अपने संबोधन में राज्यपाल ने राज्य सरकार की पिछले वर्ष की उपलब्धियां गिनाईं। उन्होंने कहा, उनकी सरकार नये छत्तीसगढ़ के निर्माण के लिए काम कर रही है। राज्यपाल के अभिभाषण पूरा होने के साथ ही सत्र की औपचारिक शुरुआत हो गई है। इस सत्र में राज्य का वार्षिक बजट पारित होना है।

राज्यपाल ने कहा, कोरोना संकट से निपटने में जनता ने भी सहयोग दिया है, उसके लिए सभी को धन्यवाद। मेरी सरकार ने कोरोना काल मे मजदूरों के खाने पीने, प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने का काम किया है। उस कठिन वक्त में 67 लाख राशन कार्ड धारियों को अनाज दिया गया। 57 लाख अंत्योदय कार्डधारियों को चावल और चना दिया गया।

दूसरे प्रदेशों में फंसे मजदूरों की सुरक्षित वापसी कराई गई। जरूरतमंदों के लिए 11 हजार ग्राम पंचायतों में 2 क्विंटल चावल उपलब्ध कराया गया। राज्यपाल ने कहा, उनकी सरकार ने महिलाओं का मान बढ़ाया है, वहीं बच्चों के पोषण की चिंता की है। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान शुरू किया गया है। 24 लाख बच्चों के लिए पोषण सामग्री दी गई। 29 लाख बच्चों को रेडी-टू-ईट भोजन घर पहुंचा कर दिया गया।

राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में खरीफ सीजन के दौरान धान की रिकॉर्ड खरीदी का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा, इस वर्ष उनकी सरकार ने रिकॉर्ड धान की खरीदी की है। 2152980 पंजीकृत किसानों में से 2053433 किसानों ने अपना धान बेचा है। उन्होंने कहा, छत्तीसगढ़ अपने 95 प्रतिशत किसानों का धान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदने वाला पहला राज्य बन गया है। उन्होंने कहा, 92 लाख मीट्रिक टन धान खरीदना एक रिकॉर्ड है।

राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान पूरी सरकार, सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायक मौजूद रहे। अधिकारी दीर्घा में भी अफसरों की मौजूदगी बनी रही।

राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान पूरी सरकार, सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायक मौजूद रहे। अधिकारी दीर्घा में भी अफसरों की मौजूदगी बनी रही।

धान के दाम का मान बना रहे

राज्यपाल ने कहा, उनकी सरकार चाहती है कि धान के दाम का मान बना रहे। इसलिए धान से एथेनाल बनाया जाएगा। ताकि धान का दूसरे व्यावसायिक कार्यों में भी उपयोग किया जा सके। राज्यपाल ने कहा, राज्य सरकार की इस कोशिश को केंद्र सरकार ने भी मान्यता दी है। उन्होंने कहा, बिना ब्याज के ऋण वितरण स्कीम में अभी तक 4755 करोड़ का कर्ज दिया जा चुका है। 16 लाख किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड बना है।

परिसर पहुंचने पर हुआ पारंपरिक स्वागत

विधानसभा परिसर में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने राज्यपाल अनुसूईया उइके का स्वागत किया। उसके बाद राज्यपाल ने हॉल में प्रवेश कर विधायकों का अभिवादन स्वीकार किया। बैंड ने राष्ट्रगान की धुन बजाई। उसके बाद राज्यपाल ने अपना अभिभाषण शुरू किया।

विधानसभा पहुंचने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने स्वागत किया।

विधानसभा पहुंचने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने स्वागत किया।

विधायकों ने पूछे हैं 2350 सवाल

विधानसभा अध्यक्ष ने बताया, इस सत्र में अभी तक विधायकों ने 2350 प्रश्न पूछे हैं। इनमें से 1226 तारांकित प्रश्न हैं और 1088 अतारांकित प्रश्न। अभी तक विधायकों ने 24 स्थगन प्रस्ताव दिये हैं। 117 ध्यानाकर्षण और 9 अशासकीय संकल्प अभी तक विधानसभा सचिवालय को मिल चुके हैं।

विधानसभा कार्य मंत्रणा समिति की बैठक से बाहर निकलते सरकार और सत्ता पक्ष के सदस्य।

विधानसभा कार्य मंत्रणा समिति की बैठक से बाहर निकलते सरकार और सत्ता पक्ष के सदस्य।

विधायकों की जांच कर आने दिया

कोरोना प्रतिबंधों के तहत विधानसभा परिसर में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश प्रतिबंधित रहा। दर्शक दीर्घा और अध्यक्षीय दीर्घा को पूरी तरह बंद रखा गया है। वहीं मंत्रियाें-विधायकों के सुरक्षा अधिकारियाें (PSO) तक को परिसर में आने की अनुमति नहीं मिली है। हॉल में प्रवेश से पहले विधायकों का टेंपरेचर और ऑक्सीजन लेवल की जांच हुई।

 

Check Also

550 दिन बाद सुलझा मामला:अभिनेत्री के पिता ने मुंबई से आकर वापस ली CM हेल्पलाइन की शिकायत, चोरी के मामले में जांच से संतुष्ट नहीं थे

माधवनगर थाने में खड़ी कार का मुआयना करते अभिनेत्री मदिराक्षी के पिता दिनेशचंद्र जोशी व …