चावल खाने के फायदे: वजन बढ़ने की चिंता किए बिना आपको खाते रहना चाहिए चावल- जानिए क्यों

अगर आप वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं, तो आपको चावल छोड़ने की सलाह दी जाती है. चावल में अत्यधिक कार्बोहाइड्रेट्स पाए जाते हैं और वजन बढ़ाने के जिम्मेदार होते हैं. हालांकि, चावल से वजन में होती है या नहीं, अभी स्पष्ट नहीं है. हमें निश्चित रूप से इतना पता है कि भारतीय फूड में चावल मुख्य है और पूरे देश की बड़ी आबादी इस्तेमाल करती है.

 

वजन कम करने के नाम पर चावल से परहेज या लक्षित फिटनेस उद्देश्य हासिल करने के लिए ज्यादा जानकारी का अभाव होता है. क्यों नियमित चावल खाया जा सकता है? विशेषज्ञों का मानना है कि एकल पॉलिश, हाथ से बने चावल खाने के लिए उपयुक्त है. दिन के किसी समय और रात में भी खाया जा सकता है.

 

कब्ज, ब्लोटिंग और इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम में मुफीद
इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम आंतों का रोग है. इसमें पेट में दर्द, बेचैनी और मल करने में परेशानी होती है. चावल प्रीबॉयोटिक के तौर पर काम करते हैं. प्रीबॉयोटिक जीवत सूक्ष्मजीव होते हैं. ये आंतों में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया के संतुलन को बनाए रखते हैं और ब्लोटिंग के साथ कब्ज से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकते हैं.

 

अनिद्रा, तनाव और थकान के लिए फायदेमंद
डिनर में चावल का सूप पेट और नसों को शांत कर सकता है और रात में नींद को बेहतर बना सकता है. ये हार्मोन को संतुलित करने में मदद करता है, आपके मूड को बढ़ाता है.

 

थायराइड और डायबिटीज में भी उपयुक्त
चावल, दाल, सब्जी और फलिया मिलकर पौष्टिक भोजन बनते हैं. चावल को, दाल, सब्जी और फलिया के साथ खाने पर पोषक तत्वों को मिलाने में मदद कर सकता है. ये अनाज खास तौर से उस वक्त मददगार हो सकता है जब आपको विटामिन बी12, हीमोग्लोबिन और विटामिन डी की कमी हो.

 

भारत में कई प्रकार के चावल उगाए जाते हैं. आप किसी एक को अपने इलाके के हिसाब से चुन सकते हैं. आप सभी मौसम में खा सकते हैं, जिस तरह चाहे पका सकते हैं. स्टीम राइस, दाल चावल, जीरा चावल, पुलाव, बिरयानी, राजमा चावल के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं.

Check Also

अपने हार्ट और किडनी को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये फूड्स

हार्ट और किडनी की समस्या आजकल बेहद आम हो गई है और लगातार खान पान …