चाणक्य नीति: सोते दिखे ये 7 प्रकार के लोग तो इन्हे तुरंत जगा देना चाहिए…

नींद मनुष्य के लिए बेहद जरुरी मानी जाती है, लेकिन आवश्यकता से ज्यादा नींद लेने और गलत जगह सोने से जीवन में परेशानियों के अलावा कुछ हासिल नहीं होता है | आचार्य चाणक्य ने अपनी चाणक्य नीति में मनुष्य को सफलता के सूत्र प्रदान किये है | चाणक्य नीति में उन्होंने 7 ऐसे लोगो को वर्णन किया है, जो यदि सोते दिखे तो उन्हें तुरंत जगा देना चाहिए | तो आइये जानते है, वे कौनसे लोग है |

काक चेष्टा, बको ध्यानं, स्वान निद्रा तथैव च। इस श्लोक में बताया गया है की यदि कोई व्यक्ति पढाई करने के समय सोने जाए तो उसे उठा देना चाहिए | क्योंकि पढाई के समय सोना असफलता लाता है | जिस प्रकार सोना आग में तपकर कुंदन बनता है, उसी प्रकार छात्र भी कठोर मेहनत कर के ही सफलता पा सकते है |
सेवक या नौकर यदि काम करने के समय सोता दिखे तो उसे तुरंत उठा देना चाहिए | क्योंकि ग़लत जगह और गलत समय पर ली गयी नींद उसके लिए मुश्किल का कारण बनती है |
चौकीदार कभी काम के समय सो रहा हो तो उसे तुरंत उठा दे | उसका काम जागते रहना है, ऐसे में काम के समय उसका सोना सुरक्षा को खतरे में डालता है |
यदि कोई यात्री यात्रा करते समय सो जाए तो उसे जगा देना चाहिए | क्योंकि यदि वो सोता ही रह गया तो अपने गंतव्य पर नहीं पहुँच पायेगा |
यदि कोई भयभीत व्यक्ति अपना समय काटने के लिए सोने की कोशिश करे तो उसे तुरंत जगा देना चाहिए | कोई व्यक्ति डर कर सो रहा हो तो उसे जागकर उसके डर को दूर भागना चाहिए ताकि वो अपने कर्म पथ पर आगे बढ़ सके |
चाणक्य ने कहा था की भंडार की सुरक्षा करने वाले व्यक्ति को काम के समय सोने नहीं देना चाहिए, क्योंकि उसका सोना लूट होने का कारण बनता है |

Check Also

जिन लड़कियों में होती है ऐसी बात, हर कदम पर साथ देता है इनका भाग्य

यूं तो हर लड़की अपने आपमें खास होती है। उन्हें मां लक्ष्मी का स्वरूप माना …