घर से झूठ बोलकर पार्क में पहुंची भाभी, फिर देवर को फोन कर कही ऐसी बात सुनकर दंग रह गए सब

आज एक ऐसा मामला सामने आया है जो वाकई में बेहद ही चौंका देने वाला है। जी हां दरअसल सबसे पहले तो आपको ये बता दें कि ये मामला राजस्थान से जुड़ा हुआ है जिसके सामने आने के बाद हर कोई हैरान रह गया। वहीं दूसरी तरफ इस मामले के बारे मे हर कोई जानने को उत्‍सुक भी हो रहा है। मामला राजस्थान के एक पार्क का है जहां एक महिला और एक आदमी बेहोशी की हालत में पाए गए।

जिसके बाद सुबह जब गांव वालों ने उन्हें देखा तो पुलिस को सूचना दी और फिर जो सच्‍चाई सामने आई उसे सुनकर गांव वाले ही नहीं बल्कि पुलिस भी हैरान रह गई। ये घटना के बारे में जैसे ही पुलिस को सुचना दी गई तुरंत पुलिस वहां पहुंची लेकिन पुलिस को भी इनके बयान सुनने के बाद यकीन नहीं हो रहा था कि ये ऐसा कर सकते हैं।

बता दें कि खेत में पड़े इन महिला व पुरूष को ऐसा देख पहले तो गांव वाले डर गए कि इन्‍हें कुछ हो गया है लेकिन फिर जब पास जाकर देखा तो ये बेहोश थें। उसके बाद जैसे जैसे ये खबर पूरे गांव में आग की तरह फैली वैसे वैसे इन्‍हें देखने वालों की भीड़ भी इक्‍कट्ठा हो गई। वहीं दूसरी ओर मौके पर पहुंची पुलिस ने पाया कि खेत में एक महिला और एक पुरुष बेहोश पड़े हैं। पुलिस उन दोनों को गाड़ी में डालकर ले गई। जब इन्‍हें होश आया तो इन्‍होंने जो बयान दिया उसे सुनकर हर कोई हैरान रह गया । जी हां इन्‍होंने पुलिस को बताया कि आखिर वो खेत में कैसे पहुंचे। महिला ने बताया कि खेत में जो व्‍यक्ति उसके साथ बेहोश था वो उसका देवर है।

महिला ने बताया कि वो डॉक्टर के यहां का बहाना बनाकर घर से निकली थी वहां उसने देवर को भी बुला लिया। उन दोनों ने रात को बहुत शराब पी थी और नशे में होने के कारण वे दोनों खेत में ही बेहोश होकर गिर गए। जरा सोचिए जहां हमारे समाज में भाभी को मां का दर्जा दिया जाता है वहीं दूसरी तरफ भाभी का ऐसा रूप देखकर दुनिया क्‍या कहेगी वहीं लोगों को भी जब इस बारे में पता चला तो वो लोग भी दंग रह गए। जहां भाभी को देवर को नशा करने से रोकना चाहिए तो वो खुद नशे में टल्‍ली थीं वो भला कैसे अपने देवर को संभालती ।

वैसे तो हमारे देश में भाभी-देवर के रिश्ते को मां-बेटे के समान ही समझा जाता है यह प्रेम प्यार का एक पवित्र रिश्ता होता है। कभी-कभी देवर संरक्षक की भी भूमिका अदा करता है। हमारी इतिहास में भी सीता के लिए राम-रेखा नहीं लक्ष्मण-रेखा खींची गई थी, जो प्रोटेक्टर होने की वजह से देवर ने खींची थी।

लेकिन देश में कई ऐसे भी उदाहरण देखने को मिले हैं जिसमें भाभी और देवर किसी भी हद तक एक दूसरे के साथ रह सकते हैं और किसी को कोई ऐतराज भी नहीं होता। आज के इस दौर में इस तरह की घटना अपने आप में बड़ा चौका देनें वाली है लेकिन आज भी ऐसा कई जगह होता है।

Check Also

मोबाइल से कैसे WIFI पासवर्ड हैक

मोबाइल, कंप्यूटर, लैपटॉप और इंटरनेट हमारी आज की सबसे ज्यादा जरुरत की चीज़ बन गई है। अगर …