घर में है 10 चमत्कारी गुणों वाली औषधि

 

 

 

 

पानी स्वच्छ करना हो या आफ्टर शेव लोशन के लिए इस्तेमाल करना हो, फिटकरी के ये उपयोग आप में से कई लोगों ने देखे और सुने होंगे। वहीं, शायद ही आपको मालूम हो की यह पारदर्शी पत्थर जैसी दिखने वाली फिटकरी स्वास्थ्य संबंधी कई मामलों में भी कारगर है। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे ही फिटकरी के फायदे बता रहे हैं, जिनके बारे में आपने इससे पहले बमुश्किल ही सुना होगा।
आइए, सबसे पहले हम फिटकरी क्या है? इस बारे में जान लेते हैं। बाद में हम फिटकरी के फायदे से जुड़ी जानकारी हासिल करेंगे।

फिटकरी के औषधीय गुण

फिटकरी में मौजूद कुछ सामान्य औषधीय गुण हैं

एंटीबायोटिक (सूक्ष्म जीवों को नष्ट करने वाला)

एंटी-ट्राइकोमोनस (प्रोटोजोवल इन्फेक्शन को खत्म करने वाला)

एस्ट्रिंजेंट (संकुचन पैदा करने वाला)

एंटीऑक्सीडेंट (मुक्त कणों के प्रभाव को नष्ट करने वाला)

एंटीइंफ्लेमेटरी (सूजन को कम करने वाला)

फिटकरी के फायदे –

1. दांतों के स्वास्थ्य को बनाए रखे 

दांतों में कैविटी और इस कैविटी के कारण दांतों के क्षय की समस्या काफी आम है। फिटकरी के उपाय इस समस्या से राहत दिलाने में कारगर साबित हो सकते हैं। अमेरिका की इंडियाना यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए एक शोध से यह बात साफ होती है। शोध में माना गया कि फिटकरी का दांतों पर नियमित उपयोग दांतों पर जमा होने वाली कैविटी को नष्ट करने में मदद कर सकता है । इस तथ्य को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि दंत स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए फिटकरी के लाभ सहायक साबित हो सकते हैं।

2. तन की दुर्गन्ध हटाए

तन की दुर्गन्ध हटाने के लिए भी फिटकरी का उपयोग लाभकारी माना जा सकता है। इस बात की पुष्टि फिटकरी से संबंधित एक शोध से होती है। शोध में माना गया कि फिटकरी में एंटीबैक्टीरियल (बैक्टीरिया को नष्ट करने वाला) गुण पाया जाता है। इसी गुण के कारण तन की दुर्गन्ध पैदा करने वाले बैक्टीरिया को नष्ट कर फिटकरी से नहाने के फायदे हासिल किए जा सकते हैं। यही वजह कि कई डियोड्रेंट बनाने वाली कंपनियां इसे एक सक्रिय घटक के रूप में अपने उत्पाद में शामिल करती हैं । ऐसे में फिटकरी के उपाय के तौर पर नहाने के गुनगुने पानी में फिटकरी मिलाकर इस्तेमाल करने से तन की दुर्गन्ध से राहत पाई जा सकती है।

3- माउथवाश

एक कारगर माउथवाश के तौर पर भी फिटकरी के लाभ हासिल किए जा सकते हैं। टर्की की गाजी यूनिवर्सिटी द्वारा किए गए एक शोध से इस बात की पुष्टि होती है। शोध में बताया गया है कि फिटकरी दांतों पर जमा प्लाक को हटाने के साथ ही लार में उपस्थित हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट करने में भी मदद करती है। इस कारण इसका उपयोग खासकर बच्चों के मौखिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में मददगार साबित हो सकता है । इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि फिटकरी के गुण माउथवाश के लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं, लेकिन इसे पीना नहीं है हैं।

4-. बुखार, खांसी और अस्थमा

अन्य शारीरिक समस्याओं के साथ ही फिटकरी का उपयोग बुखार, खांसी और अस्थमा जैसी समस्या में भी कारगर साबित हो सकता है। फिटकरी से संबंधित एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है। इस शोध में सीधे तौर पर जिक्र मिलता है कि फिटकरी का उपयोग खांसी, काली खांसी, अस्थमा और मलेरिया व थायराइड फीवर में सकारात्मक परिणाम प्रदर्शित कर सकता हैं । वहीं, विशेषज्ञों की मानें, तो यह सही है कि फिटकरी का उपयोग कई आयुर्वेदिक दवाइयों में किया जाता है, लेकिन इसके सीधे सेवन से बचना चाहिए। अच्छा होगा इस विषय को लेकर डॉक्टर से संपर्क करें

5- यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन से जुड़ी समस्याओं में भी फिटकरी खाने के फायदे सहायक साबित हो सकते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, फिटकरी मूत्राशय से होने वाले भारी रक्तस्राव को रोकने का काम कर सकती है, जो किसी संक्रमण की वजह से हो सकता है। फिटकरी एक कारगर एस्ट्रिंजेंट है, जो रक्तस्राव वाले भाग पर प्रभावी रूप से काम कर सकती है । इस आधार पर यह माना जा सकता है कि फिटकरी के लाभ यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन में भी सहायक हो सकते हैं। वहीं, इस बात का ध्यान रखा जाए कि इसे प्राइवेट पार्ट पर सीधे इस्तेमाल न किया जाए, क्योंकि इससे जलन और चुभन की समस्या हो सकती है। इसके लिए डॉक्टरी परामर्श पर फिटकरी के पानी का सेवन किया जा सकता है। फिटकरी का पानी बनाने के लिए एक गिलास गुनगुने पानी में फिटकरी का एक छोटा टुकड़ा डालें और कुछ देर बाद उसे निकालकर पानी का सेवन करें।

6- जुओं से दिलाए छुटकारा

फिटकरी के फायदे बालों के लिए भी उपयोगी साबित हो सकते हैं। जुएं बालों की एक आम समस्या हैं। इससे राहत पाने के लिए भी फिटकरी का उपयोग लाभकारी साबित हो सकता है। दरअसल, जुओं से राहत पाने के लिए आयुर्वेदिक उपचार से संबंधित इंडियन जर्नल ऑफ डर्मेटोलॉजी के शोध से इस बात की पुष्टि होती हैं। शोध में जुओं से छुटकारा दिलाने वाले कई उपचार सुझाए गए हैं, जिनमें फिटकरी का भी जिक्र शामिल हैं। शोध में माना गया है कि जुओं से राहत पाने के लिए पेस्ट के रूप में फिटकरी का उपयोग स्कैल्प पर करना लाभदायक साबित हो सकता है ।

7- कटने और घाव भरने के लिए

फिटकरी में घाव भरने का गुण भी पाया जाता है। इस कारण मामलू काटने और छोटे घावों को साफ करने व भरने के लिए भी फिटकरी के लाभ असरदार साबित हो सकते हैं। इस बात की पुष्टि फिटकरी के औषधीय लाभों से संबंधित एक शोध में मिलता है । ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि कट या हल्के घाव पर फिटकरी का उपयोग लाभकारी हो सकता है।

8. मुंहासों के लिए

फिटकरी के उपयोग से मुंहासों की समस्या में भी राहत मिल सकती है। इस बात का जिक्र इंटरनेशनल जर्नल ऑफ वूमेंस डर्मेटोलॉजी के शोध में मिलता है। शोध में बताया गया है कि अपने एस्ट्रिंजेंट गुण के  कारण यह रोम छिद्रों में कसाव लाने का काम कर सकता है। चूंकि, रोम छिद्रों के बड़े होने के कारण मुंहासों का जोखिम अधिक रहता है। इस कारण चेहरे पर फिटकरी लगाने के फायदे मुंहासों से राहत दिलाने में कुछ हद तक कारगर साबित हो सकते हैं । इसके लिए फिटकरी का पेस्ट प्रभावित जगह पर इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है, लेकिन ध्यान रहे कि इसके अधिक इस्तेमाल से त्वचा काली हो सकती है।

9. झुर्रियां घटाएं और बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करे

फिटकरी से संबंधित एनसीबीआई के एक शोध के मुताबिक यह एक प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट का काम करती है। फिटकरी का यह गुण त्वचा में कसाव लाकर रूखी, बेजान और लटकी त्वचा को ठीक करने में सहायक साबित हो सकता है । वहीं, फिटकरी के इसी गुण को देखते हुए कई कॉस्मेटिक क्रीम में भी इसे सक्रीय घटक के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है । इस आधार पर यह माना जा सकता है कि चेहरे पर फिटकरी लगाने के फायदे बढ़ती उम्र के प्रभाव को और झुर्रियों की समस्या को ठीक करने में कुछ हद तक उपयोगी साबित हो सकते हैं। फिर भी ठोस प्रमाण की कमी के कारण साफ तौर पर यह कह पाना मुश्किल होगा कि इस मामले में यह कितनी प्रभावी साबित होगी।

10. एक्जिमा और खुजली

फिटकरी के लाभदायक गुण एक्जिमा और खुजली जैसी त्वचा से संबंधित समस्याओं में भी फायदेमंद साबित हो सकते हैं। इस बात की पुष्टि एनसीबीआई के फिटकरी से संबंधित एक शोध से होती है। शोध में माना गया है कि फिटकरी कई शारीरिक समस्याओं के साथ ही एक्जिमा (त्वचा रोग का एक प्रकार) और प्यूरिटिस (खुजली) की समस्या में लाभकारी प्रभाव प्रदर्शित कर सकती है ।

Check Also

मछली खाने के शौकीन लोग इस खबर को जरूर पढ़ें, 90% लोग नहीं जानते इस बात को

दोस्तों! आज हम आपके लिए एक ऐसी खबर लेकर आएं हैं, जो आपके जीवन के …