ग्रामस्तरीय मिट्टी जांच प्रयोगशाला (मिनी लैब) की स्थापना हेतु तीन आवेदकों का हुआ चयन।

बेतिया। उन्नत कृषि हेतु मिट्टी की जांच करना अत्यंत ही आवश्यक है। मिट्टी की जांच के उपरांत कृषक आवश्यकतानुसार उर्वरक आदि के माध्यम से बेहतर कृषि उपज प्राप्त कर सकते हैं। ग्राम स्तर पर मिट्टी जांच प्रयोगशाला की स्थापना होने से स्थानीय कृषकों को इसका लाभ मिलेगा तथा वे अपनी कृषि उपज को आशातीत बढ़ा सकते हैं। इसी परिप्रेक्ष्य में आज जिलाधिकारी कार्यालय प्रकोष्ठ में एक आवश्यक बैठक सम्पन्न हुयी जिसमें ग्रामस्तरीय मिट्टी जांच प्रयोगशाला की स्थापना हेतु इच्छुक कृषकों के आवेदनों की सूक्ष्मता से जांच की गयी तथा जांचोपरांत तीन आवेदकों का चयन किया गया है। जिसमें बैरिया प्रखंड के आकाशदीप कुमार, मैनाटांड़ प्रख्ांड के विकास कुमार शर्मा एवं बगहा-1 प्रखंड के विनय कुमार सिंह के नाम शामिल हैं।


इस अवसर पर जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी को राष्ट्रीय संधारणीय कृषि मिशन अन्तर्गत ग्राम स्तरीय मिट्टी जांच प्रयोगशाला (मिनी लैब) की स्थापना हेतु आवश्यक कार्रवाई करने का निदेश दिया गया है। जिला कृषि पदाधिकारी, श्री विजय प्रकाश द्वारा बताया गया कि ग्राम स्तरीय मिट्टी जांच प्रयोगशाला की स्थापना हेतु कुल-198 आवेदन प्राप्त हुए थे। प्राप्त आवेदनों के आधार पर कोटिवार आवेदकों की सूची बनायी गयी। कृषि निदेशालय, बिहार द्वारा जारी निदेश के आलोक में 03 योग्य आवेदकों का चयन ग्राम स्तरीय मिट्टी जांच प्रयोगशाला (मिनी लैब) की स्थापना हेतु किया गया है।
इस अवसर पर सहायक समाहर्ता, श्री कुमार अनुराग सहित कृषि विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Check Also

PM नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक पोस्ट करना डॉक्टर को पड़ा महंगा, बीजेपी नेता ने सरेआम जड़ा थप्पड़

छपरा: बिहार के छपरा के जलालपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आपत्तिजनक फोटो फेसबुक पर शेयर करना …