गौरीचक में ड्यूटी पर जा रही आंगनबाड़ी सेविका को ट्रक ने रौंदा, मौत के बाद हंगामे से आधा घंटा यातायात रहा प्रभावित

 

बाइक से अपने बेटे के साथ मीटिंग अटेंड करने जा रही मीनू देवी को ट्रक ने रौंदा। बेटे की हालत नाजुक।

  • पुलिस ने तेज रफ्तार में चलने वाली गाड़ियों की चेकिंग का दिया आश्वासन तब माने लोग
  • बेटे की हालत है गंभीर, निजी अस्पताल में चल रहा है इलाज

पटना के गौरीचक में शुक्रवार को बेटे के साथ ड्यूटी पर जा रही आंगनबाड़ी सेविका को ट्रक रौंदते हुए निकल गई। मौके पर सेविका की मौत हो गई जबकि बेटे की हालत गंभीर है। घटना पुनपुन के एसएच-1 पर हुई, जिसके बाद आक्रोशित लोगों ने जमकर हंगामा मचाया। तोड़फोड़ और बवाल के कारण स्टेट हाइवे पर करीब आधा घंटा यातायात बाधित रहा। पुलिस के पहुंचने के बाद लोगों को शांत कराया गया। बीते एक सप्ताह में तेज रफ्तार के कारण आधा दर्जन से अधिक हादसे हो चुके हैं।

बाइक से मीटिंग अटेंड करने जा रही थी मीनू
बांसबीघा निवासी मीनू कुमारी अपने बेटे सूरज के साथ बाइक से मीटिंग के लिए धनरुआ जा रही थी। बाइक जैसे ही गौरीचक बाजार स्थित एसएच-1 पर पहुंची, वहीं पीछे से तेज रफ्तार में आ रही ट्रक ने टक्कर मार दिया। मीनू कुमारी की मौके पर मौत हो गई जबकि सूरज की हालत गंभीर है। इसके अलावा घटना में दो बाइक सवार बाल-बाल बचे। गुस्से में स्थानीय लोगों ने जमकर बवाल काटा। गौरीचक इंस्पेक्टर लालमुनि दूबे ने बताया कि वाहनों की रफ्तार को लेकर अभियान चलाया जाएगा।
ट्रक चालक है फरार
मौके पर ट्रक चालक फरार हो गया है लेकिन पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया है। घटना से इलाके के लोगों में आक्रोश है। शव को लेकर उन्होंने जबरदस्त हंगामा किया, जिसके बाद यातायात बाधित रहा। स्थानीय लोग मनमाने रफ्तार पर अंकुश लगाने के लिए चेकिंग को सुचारू कराने की मांग कर रहे हैं। इसके अलावा ओवरलोड कर चल रहे वाहनों पर कारवाई करने की मांग कर रहे हैं। पुलिस के आश्वासन के बाद लोग शांत हुए।

 

Check Also

मुंगेर एसपी लिपि सिंह पर कार्रवाई में देरी महंगी पड़ी; तीन जिलों से पुलिस बल मंगाकर ठीक किया जा रहा लॉ एंड आर्डर

मुंगेर पुलिस की कार्रवाई के बाद एसपी लिपि सिंह सवालों के घेरे में हैं। लोगों …