गोरखपुर में छेड़खानी से परेशान इंटर की छात्रा ने खुद को लगाई आग; अस्पताल में मौत, पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया

गोरखपुर के पिपराइच इलाके के रतनपुर गांव के रहने वाले एक व्यक्ति की 17 साल की बेटी जो 12वीं की छात्रा है, उसने गांव के ही शोहदे हरीश की छेड़खानी से परेशान होकर 10 अगस्‍त की रात आग लगा ली थी। परिजन ने उसे बीआरडी मेडिकल कालेज में भर्ती कराया। जहां देर रात उसकी मौत हो गई। मामला दर्ज होने के बाद भी पुलिस अभी तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं कर सकी है।

लड़की के पिता गुजरात में काम करते थे। लॉकडाउन में काम बंद होने के कारण वे चार माह से घर पर ही हैं। उनकी पत्नी की मौत हो चुकी है। उनके पांच बच्चे हैं। बड़ा लड़का 22 साल है, दूसरा 16 साल का है। तीन बच्चियां हैं। इसमें 17 साल की एक बेटी की बीमारी से छह साल पहले मौत हो चुकी है, जबकि 15 साल की बेटी की करंट लगने के कारण मौत हो चुकी है। पीड़ित पिता ने बताया कि उनकी बच्‍ची को ट्यूशन जाते समय हरीश नाम का लड़का छेड़ता था। उसने ये बात घर पर पिता और भाई को बताई थी। परेशान होकर छात्रा ने कमरा बंद कर आग लगा ली।

इलाज के दौरान आज हुई मौत
सीओ चौरी चौरा रचना मिश्रा ने बताया कि मृतक लड़की की इलाज के दौरान मौत हो गई है। लड़की के पिता की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत कर आरोपी के माता-पिता को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। आरोपी जल्द पकड़ा जाएगा। पुलिस का कहना है कि छेड़छाड़ की घटना की शिकायत कभी पुलिस से नहीं की गई है।

 

Check Also

गाजियाबादः थाने में हुई मारपीट के आरोपी की मौत, पुलिस पर उठे सवाल, कौन देगा जवाब ?

गाजियाबाद : गाजियाबाद पुलिस क्या पुलिस स्टेशन में लाने के बाद लोगों को करती है प्रताड़ित, …