गोपालगंज से फाइल गायब, IGIMS में खुल रही फाइलें:डॉ. संगीता के साथ वाले 19 समेत 50 डॉक्टरों की नियुक्ति के कागजात निकलेंगे, भास्कर की खबर से हड़कंप

डॉ. संगीता पंकज के साथ IGIMS में तैनात 50 सीनियर डॉक्टरों की नियुक्ति जांच के घेरे में हैं। - Dainik Bhaskar

डॉ. संगीता पंकज के साथ IGIMS में तैनात 50 सीनियर डॉक्टरों की नियुक्ति जांच के घेरे में हैं।

  • गोपालगंज सिविल सर्जन कार्यालय से डॉक्टर की फाइल गायब होने का मामला
  • IGIMS में डॉक्टर की फाइल में NOC क्यों नहीं, यह बड़ा सवाल

RJD अध्यक्ष लालू प्रसाद के गांव गोपालगंज के फुलवरिया स्थित मरछिया देवी रेफरल अस्पताल से 17 साल 5 माह से गायब जिस डॉक्टर को बिहार सरकार की कैबिनेट ने बर्खास्त किया उसकी फाइल ही गायब हो गई है। दैनिक भास्कर के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर खबर लगने के बाद IGIMS से लेकर गोपालगंज सिविल सर्जन कार्यालय में हड़कंप मचा हुआ है। हर जगह फाइल तलाशी जा रही है। IGIMS में तो खबर के बाद डॉ. संगीता पंकज के साथ 50 सीनियर डॉक्टरों की नियुक्ति फाइल जांच के लिए खोली जा रही है। इनमें 19 के आसपास वे डॉक्टर भी शामिल हैं जिन्होंने डॉ. संगीता पंकज के साथ IGIMS ज्वाइन किया था। चौंकाने वाला मामला गोपालगंज सिविल सर्जन कार्यालय से डॉक्टर की फाइल गायब होने का है। फाइल कब और कैसे गायब हुई, इसका कोई सुराग नहीं लग रहा है।

IGIMS में नहीं है डॉक्टर की NOC
डॉ. संगीता पंकज की नियुक्ति की फाइल में अनापत्ति प्रमाणपत्र (NOC) नहीं है। ऐसे में उनकी नियुक्ति पर बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है। संस्थान के निदेशक ने भी नियुक्ति की फाइल में लगा डॉ. संगीता पंकज के इस्तीफे का आवेदन दिखाया है। अगर NOC फाइल में होता तो उसे भी दिखाते। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि बिना अनापत्ति के कैसे नियुक्ति कर दी गई? IGIMS के डॉक्टरों का कहना है कि अगर डॉ. संगीता पंकज की नियुक्ति की फाइल जांच में आई तो सब खुलासा हो जाएगा।

2003 से गायब बताकर जिस डॉक्टर को बर्खास्त किया गया, वह 16 साल से नौकरी कर रही

IGIMS में जांच से मचा हड़कंप
इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (IGIMS) में जांच को लेकर डॉक्टरों में हड़कंप मचा है। IGIMS के सूत्रों की मानें तो अब फाइलों में भी हेरफेर करने का काम शुरू हो गया है। दो दर्जन ऐसे डॉक्टरों की तैनाती और प्रमोशन में गड़बड़ी हुई है जिसे लेकर अब हड़कंप है। डॉक्टरों के बीच यह मामला अब चर्चा में है। चर्चा यह भी हो रही है कि डॉ. संगीता पंकज के मामले में पूरा अस्पताल स्कैन हो जाएगा। वहीं, गोपालगंज के सिविल सर्जन का भी कहना है कि इस मामले में जांच होनी चाहिए कि संबंधित डॉक्टर की फाइल कहां है। अगर डॉक्टर फुलवरिया में तैनात रही हैं और इस्तीफा दिया है तो यह निश्चित है कि उन्होंने सेवा दी है।

IGIMS सही या स्वास्थ्य मंत्री…तय करे सरकार

डॉ. संगीता के साथ 50 डॉक्टरों पर जांच की आंच
डॉ. संगीता पंकज के साथ IGIMS में तैनात 50 सीनियर डॉक्टरों की नियुक्ति जांच के घेरे में हैं। आशंका है कि इनकी नियुक्ति में कहीं न कहीं कोई गड़बड़ी हुई है। दैनिक भास्कर के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर खबर चलने के बाद IGIMS में जांच की तैयारी की जा रही है। डॉ. संगीता पंकज की फाइल शुक्रवार को दिन में खबर लगने के साथ ही IGIMS के निदेशक ने मंगा ली थी। अब इसी क्रम में अन्य डॉक्टरों की भी फाइल खोलने की तैयारी है। शुक्रवार को IGIMS की बोर्ड ऑफ गवर्निंग (BOG) की बैठक में इस पर मंथन किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के आदेश पर ऐसे मामले में कमेटी गठित करने की तैयारी भी चल रही है।

IGIMS में कम नहीं है गड़बड़झाला
IGIMS में वर्ष 2018 में डॉक्टरों की अवैध नियुक्तियों और 23 कर्मचारियों द्वारा अवैध निकासी पर CAG की रिपोर्ट के साथ गड़बड़ी के कई मामलों को लेकर पटना हाईकोर्ट में जनहित याचिका CWJC नंबर 20575 2019 में दायर की गई है। इस मामले में चीफ जस्टिस ने 6 जनवरी 2020 को स्वास्थ्य विभाग को आदेश दिया था कि 3 माह के अंदर जांच रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए, लेकिन गड़बड़ी के इस बड़े मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। अब नया मामला डॉ. संगीता पंकज का है। संस्थान फर्जीवाड़े के मामले को लगातार दबाने में लगा है। दैनिक भास्कर ने डॉ. संगीता पंकज का मामला उठाया तो पुराने मामले भी अब एक-एक कर सामने आ रहे हैं। संस्थान अब जांच को लेकर आगे बढ़ रहा है और मामला बैठक में भी आया है।

 

Check Also

4 घंटे सीमा विवाद में उलझी रही पुलिस:खुसरूपुर में खिला-पिलाकर हाथ बांधा और पुआल के ढेर में रखकर जला डाला

  इसी पुआल के ढेर में जलाकर मार डाला गया था। मृतक की नहीं हो …