गृहमंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिले योगी आदित्यनाथ

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से मुलाकात की है। उनकी ये मुलाकात राष्ट्रपति भवन, नई दिल्ली में ही हुई। इस मुलाकात के बाद योगी आदित्यनाथ ने समय देने के लिए राष्ट्रपति कोविंद के प्रति आभार व्यक्त किया है।

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश में अचानक से नेतृत्व में परिवर्तन से जुड़ी कयासबाजी जोरों पर है। सूत्रों के मुताबिक भाजपा के ही कुछ नेताओं ने पार्टी हाईकमान से योगी आदित्यनाथ के प्रति असंतोष जताया है। इसके लिए कोरोना महामारी से निपटने में योगी सरकार की नाकामियों का हवाला दिया जा रहा है।

इस सिलसिले में ही योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी। पीएम मोदी के आवास पर बैठक एक घंटे से अधिक समय तक चली। कुछ ही देर बाद योगी आदित्यनाथ भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास पर गए।

गुरुवार को योगी आदित्यनाथ ने गृह मंत्री अमित शाह के साथ 90 मिनट लंबी बैठक की। यूपी में अपनी अगली सरकार चुनने के लिए एक साल से भी कम समय बचा है, भाजपा ने पार्टी के भीतर मतभेदों को दूर करने के उपाय तेज कर दिए हैं।

सूत्रों ने कहा है कि पार्टी योगी आदित्यनाथ की जगह पर किसी दूसरे के नाम पर कोई विचार नहीं कर रही है, लेकिन अन्य बदलावों की संभावना है।

आज की बैठक भाजपा के वरिष्ठ नेता बीके संतोष के नेतृत्व में केंद्रीय मिशन के उत्तर प्रदेश में फीडबैक लेने और मंत्रियों, विधायकों, सांसदों व मुख्यमंत्री के साथ बैठकों में समीक्षा करने के लगभग एक सप्ताह बाद हुई है।

भाजपा के वैचारिक संरक्षक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक वरिष्ठ नेता, दत्तात्रेय होसबोले ने अपनी यात्रा के दौरान कैडर में कथित तौर पर मोहभंग होने के बाद प्रतिक्रिया सत्र की सिफारिश की थी।

राज्य में सांसदों और विधायकों के लिए योगी आदित्यनाथ की दुर्गमता और महामारी से खराब तरीके से निपटने के कारण मतभेद खुले में सामने आ रहे हैं।

बीजेपी के नवीनतम हाई-प्रोफाइल भर्ती जितिन प्रसाद के यूपी में फेरबदल में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की संभावना है। 47 वर्षीय नेता यूपी में कांग्रेस का शीर्ष ब्राह्मण चेहरा थे और ब्राह्मण यूपी के मतदाताओं का लगभग 13 प्रतिशत हिस्सा हैं। उन्होंने बुधवार को दो दशक की अपनी पार्टी छोड़ दी, जिस पर कपिल सिब्बल जैसे कांग्रेस के दिग्गजों की तीखी प्रतिक्रिया हुई।

सूत्रों ने सुझाव दिया है कि पूर्व नौकरशाह एके शर्मा, जिन्हें पीएम मोदी के सहयोगियों में से जाना जाता है, उनको यूपी सरकार में महत्वपूर्ण भूमिका दी जा सकती है।

Check Also

उप्र : नौ आईपीएस अफसरों का तबादला, प्रतीक्षारत रहे पवन कुमार बनाये गए एसएसपी मुरादाबाद

लखनऊ, 15 जून (हि.स.)। राज्य सरकार ने सोमवार देर रात नौ आईपीएस अफसरों का तबादला …