Monday , July 22 2019
Home / Home / गर्भवती को इंजेक्शन लगाता मिला ऑटो चालक,सीएचसी में नहीं थे डॉक्टर

गर्भवती को इंजेक्शन लगाता मिला ऑटो चालक,सीएचसी में नहीं थे डॉक्टर

जोधपुर. चिकित्सा विभाग के उप निदेशक (जाेन) डाॅ. सुनील कुमार बिष्ट ने बुधवार को बालेसर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक ऑटाे चालक काे इंजेक्शन लगाते हुए पकड़ा। डॉ. बिष्ट सीएचसी के औचक निरीक्षण पर गए थे। इस दौरान जननी सुरक्षा वाॅर्ड में एक युवक गर्भवती काे इंजेक्शन लगाते मिला। डाॅ. बिष्ट ने उसको स्टाफ समझते हुए एप्रिन के बारे में पूछा तो वह इंजेक्शन की सिरिंज छोड़कर भाग गया।

उन्होंने पीछा किया तो वह सीएचसी से बाहर निकल एक ऑटो को चलाते हुए फरार गया। इतना ही नहीं निरीक्षण के समय सीएचसी के प्रभारी डॉ. प्रताप छुट्‌टी पर थे। उनका चार्ज डाॅ. रईस खान के पास था, वे भी सीएमएचओ ऑफिस में मीटिंग के लिए जोधपुर में थे। सीएचसी में एक डेंटिस्ट व जीएनएम के अलावा कोई नहीं था। डॉ. बिष्ट ने जब जीएनएम से उस शख्स के बारे में पूछा तो उसने कुछ भी जानकारी होने से मना कर दिया। बाद में लाेगों से पूछताछ में पता चला कि उसका नाम शाकिर था और वह ऑटो (आरजे 19 टीए 8530)  चलाता है।

मैं हैरान हूं, जांच करवाकर कार्रवाई करेंगे 
मैं इस मामले को लेकर हैरान हूं। हमने उसे पकड़ना चाहा, लेकिन वह भाग निकला। मैंने इस संबंध में ब्लॉक सीएमएचओ से तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है। जाे भी दोषी पाया गया उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। -डाॅ. सुनील कुमार बिष्ट, जाेन उप निदेशक, चिकित्सा विभाग

जाेधपुर मीटिंग में था, मुझे कुछ पता नहीं
मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। मेरे पास प्रभारी का केवल एक दिन का ही चार्ज था। निरीक्षण के समय मैं मीटिंग के लिए जोधपुर में था। डॉ. बिष्ट से भी मेरी इस बारे में कोई बात नहीं हुई है। – डाॅ. रईस खान, बालेसर सीएचसी

Loading...

Check Also

मोदी सरकार ने पहले 50 दिनों में आर्थिक वृद्धि को गति दी

नई दिल्ली :नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले 50 दिनों में आर्थिक ...