गया नगर में भैंस पर प्रचार करने पहुंचे उलेमा प्रत्याशी परवेज, पुलिस ने प्रशासन से अनुमति नहीं लेने पर किया गिरफ्तार

 

गया नगर में राष्ट्रीय उलेमा पार्टी के उम्मीदवार परवेज अनूठे अंदाज में प्रचार करने पहुंचे।

  • डिप्टी मेयर अखैारी ओंकारनाथ बुलेट पर सवार होकर प्रचार करने पहुंचे तो प्रदूषण मुक्त प्रचार के लिए परवेज ने की भैंस की सवारी
  • परवेज ने कहा- गया में प्रदूषण की मार कम करने के लिए प्रचार में वाहन का नहीं करूंगा प्रयोग

बिहार चुनाव में वोटरों को लुभाने के लिए उम्मीदवार एक से बढ़कर एक हथकंडे अपना रहे हैं। इसी क्रम में रविवार को गया में राष्ट्रीय उलेमा पार्टी के प्रत्याशी परवेज भैंस पर सवार होकर प्रचार करने पहुंचे। दावेदारी मजबूत करने के लिए वह शाम को भैंस पर सवार होकर गांधी मैदान से प्रचार अभियान के लिए निकले। आखिर भैंस की सवारी क्यों? इस सवाल पर उन्होंने जवाब दिया कि गया नगर में प्रदूषण स्तर दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। इसलिए हमलोग प्रचार में वाहन के इस्तेमाल के बजाय भैंस का इस्तेमाल कर रहे हैं।

प्रचार के दौरान उनके साथ समर्थक और पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहे। हालांकि सिविल लाइंस की पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया लेकिन लोगों के बीच वह चर्चा का विषय बने रहे। इससे पहले गया के डिप्टी मेयर और कांग्रेस प्रत्याशी अखौरी ओंकारनाथ बुलेट से प्रचार के लिए पहुंचे थे, जिसके बाद इन्होंने भैंस की सवारी की।

पुलिस ने किया गिरफ्तार
गले में माला पहन कर लोगों के समक्ष हाथ जोड़ते हुए जैसे ही परवेज भैंस की सवारी से आगे बढ़े, पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। गांधी मैदान से डेढ़ किलो मीटर दूर सिविल लाइन थाने के पास पुलिस ने उन्हें रोका और आचार संहिता के उल्लंघन मामले में उन्हें गिरफ्तार कर लिया। स्थानीय पुलिस ने बताया कि आचार संहिता के उल्लंघन मामले में उन्हें गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने इस तरह से प्रचार करने की अनुमति प्रशासन से पूर्व में नहीं ली थी। समर्थकों ने बताया कि परवेज की जमानत के लिए थाने में अर्जी दी गयी है। कार्रवाई चल रही है। देर शाम तक उन्हें मुक्त कर दिया जायेगा।

 

Check Also

Bihar Election 2020: सोनू सूद की बिहार की जनता से अपील, कहा- उंगली से नहीं, दिमाग से करें मतदान

बिहार में आज पहले चरण का मतदान जारी है. आज बिहार में सुबह से ही …