गडकरी बोले- जनसंघ के संस्थापक बंगाल के सपूत, दीदी फिर भी भाजपा को ‘बाहर की पार्टी’ बताती हैं

पश्चिम बंगाल : बंगाल में विधानसभा के लिए चुनाव प्रचार का घमासान छिड़ा है। भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने यहां की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि दीदी भाजपा को ‘बाहर की पार्टी’ मानती हैं जबकि इसकी पूर्ववर्ती जनसंघ के संस्थापक राज्य के सपूत श्यामा प्रसाद मुखर्जी हैं। पार्टी की परिवर्तन यात्रा के दौरान पुरुलिया जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कहा कि देश का निष्कर्ष विविधता में एकता है। उन्होंने कहा, ‘हम देश को एक साथ बुनना चाहते हैं न कि इसे बांटना चाहते हैं।

 

भारत का विकास और उन्नति ही भाजपा का लक्ष्य है।’ उन्होंने कहा, ‘ममता भाजपा को बाहर की पार्टी कहती हैं लेकिन भाजपा जिस जनसंघ के विचारों पर गठित हुई थी, उसके संस्थापक बंगाल के सपूत श्यामा प्रसाद मुखर्जी थे।’ केंद्रीय मंत्री ने दावा किया पश्चिम बंगाल में युवाओं को रोजगार नहीं मिलता है, किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य नहीं मिलता है, राज्य में अच्छी सड़कें नहीं हैं और ग्रामीण लोग अच्छी स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित हैं। उन्होंने कहा, ‘आपने कांग्रेस, माकपा नीत वाम मोर्चा को वर्षों दिए और ममता बनर्जी को 10 साल दिए, लेकिन पश्चिम बंगाल उभर नहीं सका।’

उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सरकार जमीन का अधिग्रहण नहीं पाई जिस कारण राज्य में सड़क निर्माण कार्य बाधित हुआ है। गडकरी ने कहा कि 341 करोड़ रुपए की लागत से बांकुड़ा से पुरुलिया तक की 84 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण एनएचएआई ने पूरा किया है जो क्षेत्र के पिछड़े इलाकों को आसनसोल, दुर्गापुर और पड़ोसी राज्य झारखंड के साथ बेहतर तरीके से जोड़ती है।

उन्होंने कहा कि पुरुलिया को झारखंड के चांडिल से जोड़ने वाली 74 किलोमीटर लंबी सड़क परियोजना को मंजूरी दी गई है जिस पर 709 करोड़ रुपए का खर्च आएगा और इसका काम जून 2022 तक पूरा हो जाएगा। गडकरी के पास केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय का भी जिम्मा है। उन्होंने कहा एमएसएमई मंत्रालय के पास कई परियोजनाएं हैं जो लोगों को आय के अवसर प्रदान कर सकती हैं।

उन्होंने दावा किया, ‘पश्चिम बंगाल में कोई विकास नहीं हुआ है और राज्य के लोग भ्रष्टाचार के बीच भय और भूख में जी रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि भाजपा राज्य की स्थिति में बदलाव करना चाहती है। केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में, हमारी सरकार ने पांच वर्षों में जो हासिल किया वह 50 वर्षों में नहीं किया जा सका है।’ गडकरी ने कहा कि भाजपा शासन के दौरान 35 करोड़ लोगों के जन धन खाते खोले गए हैं जबकि कांग्रेस की पिछली सरकार के दौरान केवल तीन करोड़ बैंक खाते थे। उन्होंने कहा कि देश में नौ करोड़ गरीब परिवारों को मोदी सरकार द्वारा मुफ्त गैस कनेक्शन उपलब्ध कराए गए हैं।

पश्चिम बंगाल के लोगों से ‘डबल इंजन’ की सरकार (केंद्र और राज्य, दोनों जगह भाजपा की सरकार) को चुनने का आह्वान करते हुए गडकरी ने कहा, ’50 साल में जो नहीं हुआ वह राज्य में पांच साल के भाजपा शासन के दौरान होगा।’ उन्होंने दावा किया, ‘दो मई (मतगणना का दिन) को भाजपा को बहुमत मिलेगा और सरकार बदलेगी। भाजपा के नेता अगले दिन का फैसला करेंगे और चार मई को भाजपा का मुख्यमंत्री शपथ लेगा।’ बंगाल की विधानसभा की 294 सीटों पर 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच आठ चरणों में चुनाव होंगे।

Check Also

सरकार ने कोई काम नहीं किया:आप के भगवंत मान ने कोविड रिलीफ फंड को लेकर CM कैप्टन अमरिंदर सिंह से मांगा हिसाब, बोले- कितना पैसा आया, सार्वजनिक नहीं किया

  आम आदमी पार्टी के भगवंत मान ने � मान बोले-राज्य के सरकारी अस्पतालों में …