गठबंधन नेताओं गांव, मंडी में एंट्री का करेंगे विरोध : पालवां

जींद : कपास मंडी में शैड के नीचे दूसरे दिन बुधवार को भी किसानों, आढ़तियों, मजदूरों ने केंद्र सरकार के तीन अध्यादेशों के खिलाफ धरना जारी रखा। इसकी अध्यक्षता आजाद पालवां ने की। जिलास्तरीय धरने पर पहुंच कर व्यापार मंडल के प्रदेशाध्यक्ष बजरंग दास गर्ग ने अपना समर्थन दिया। आजाद पालवां ने कहा कि अपने हक की लड़ाई को लेकर अगर जान भी जाए तो पीछे नहीं हटेंगे। किसान, मजदूर, आढ़ती गठबंधन के नेताओं की गांव, मंडी में एंट्री का विरोध करेंगे। जो भी गठबंधन के नेता अगर किसान, आढ़ती, मजदूर के पक्ष में है तो वो उनके धरनों पर जाकर समर्थन करें।

 पालवां ने बताया कि 19 सितंबर तक चलने वाले धरने में 17 सितंबर को धरना स्थल पर 12 बजकर 12 मिनट पर 12 मिनट तक पीपे बजाकर रोष विरोध इन तीन अध्यादेशों का किया जाएगा। 18 सितंबर को मंडी में किसान ट्रैक्टर लेकर पहुंचेंगे। यहां से विशाल टै्रक्टरों के जत्थे के साथ उपमंडल कार्यालय में पहुंचेंगे। यहां पर एसडीएम के माध्यम से पीएम नरेंद्र मोदी, केंद्रीय कृषि मंत्री के नाम ज्ञापन भेजेंगे। 19 सितंबर को आंखों, बाजू पर काली पट्टी बांध कर गांधीगिरी करते हुए रोष प्रकट करेंगे।

 

Check Also

प्रधानमंत्री ने कहा- जब भारत मजबूत था तो किसी को सताया नहीं; जब मजबूर था, तब किसी पर बोझ नहीं बना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को तीसरी बार संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) की 75वीं बैठक …