गंगा को प्रदूषण मुक्त करने के लिए तेज हुआ अर्थ गंगा अभियान

बेगूसराय : नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत गंगा में मानवीय हस्तक्षेप के कारण हो रहे प्रदूषण को दूर किये जाने तथा जल की स्वच्छता, अविरलता एवं जैविक विविधता में समृद्धि के उपाय के साथ-साथ अर्थ गंगा अभियान तेज हो गया है। बुधवार को कार्यक्रम की समीक्षा के लिए उप विकास आयुक्त सुशांत कुमार की अध्यक्षता में कारगिल विजय सभा भवन में जिला गंगा समिति की बैठक आयोजित की गई। उन्होंने कहा कि गंगा जल की स्वच्छता, अविरलता एवं जैविक विविधता के लिए लोगों को जागरूक किए जाने की आवश्यकता है। इस दिशा में सभी आवश्यक प्रयास किए जाने चाहिए। इसके लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों मुखिया, प्रखंड पंचायत समिति सदस्यों, सरपंच आदि के माध्यम से गंगा नदी में मानवीय हस्तक्षेप से होने वाले प्रदूषण को कम व समाप्त कराए जाने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए।
   नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत सिंहमा घाट पर अंटी लिटेरिंग मैसेज बोर्ड को अदिष्ठापित किया गया है। इसके अतिरिक्त गंगा नदी की स्वच्छता के प्रति जागरूकता के लिए गंगा स्वच्छता रैली एवं स्कूली बच्चों के बीच निबंध प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाता रहा है। अर्थ कार्यक्रम प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत केन्द्र सरकार द्वारा प्रायोजित कार्यक्रम है तथा इसके अंतर्गत सभी कार्य निजी भूमि पर क्रियान्वित होना है। वर्तमान में यह योजना कार्यान्वित नहीं की जा रही है, क्योंकि जिला अंतर्गत पानी में आयरन की मात्रा ज्यादा होने के लिए कारण कार्यक्रम के सफल होने की संभावना शून्य होने के कारण जिले का कोई लक्ष्य निर्धारित नहीं किया गया था। बैठक में नगर आयुक्त एवं जिला मत्स्य पदाधिकारी समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

Check Also

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी बोले- वायु प्रदूषण से बढ़ जाता है कोरोना संक्रमण का खतरा

पटना: बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने बुधवार को एक अध्ययन का हवाला देते हुए कहा …