खुलासा:योग के बहाने 9वीं की छात्रा से कराते थे गलत काम, सुसाइड के 6 माह बाद वीडियो से खुलासा

 

  • बेटी की अश्लील वीडियो देखी तो परिजनों ने सहेली व उसके भाई पर कराया केस

9वीं कक्षा की छात्रा के सुसाइड के 6 माह बाद बड़ा खुलासा हुआ है। योग सिखाने के बहाने मृतक छात्रा की सहेली व उसका भाई गलत काम करवाते थे। यमुनानगर पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर आजाद नगर के जतिन व उसकी बहन ज्योति पर धारा-306, 120बी, 506, 13 और 14 पोक्सो एक्ट में केस दर्ज किया है।

शहर निवासी 9वीं कक्षा की छात्रा ने जून 2020 में सुसाइड कर लिया था। तब परिवार ने किसी पर आरोप नहीं लगाए थे। पुलिस ने भी मामले में 174 की कार्रवाई की थी, लेकिन एक युवक के मोबाइल में मृतका की अश्लील फोटो और वीडियो पहुंचा तो उसने लड़की के परिजनों को दिखाई। इसके बाद परिजनों ने पुलिस को शिकायत दी तो भी पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया था। इसके बाद पीड़ित पक्ष ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। अब कोर्ट के आदेश पर आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

आजाद नगर निवासी महिला ने शिकायत दी है कि उसकी सबसे छोटी बेटी 9वीं क्लास में पढ़ती थी। आरोपी ज्योति उनके पड़ोस में रहती है व योग सिखाती है। उसकी बेटी की सहेलियों ने योग सिखाने के लिए ज्योति के पास ले जाना शुरू कर दिया। ज्योति ने उसका मोबाइल नंबर ले लिया था।

आरोप है कि वह अक्सर उनकी बेटी के फोन पर बातें करती थीं और उसे अपने पास बुलाती रहती थी। उसे पता चला कि ज्योति ने उसकी बेटी का अपने भाई जतिन के साथ संपर्क कराया हुआ था। उस दौरान उसकी बेटी काफी डरी-सहमी रहती थी। जब भी आरोपी उसे बुलाते थे तो वह रोने लगती थी। कई बार पूछने पर कुछ नहीं बताया।

आरोप है कि बेटी से गलत काम कराया जाता था। उसका अश्लील वीडियो और फोटो आरोपियों के पास है। इसी के दम पर उसकी बेटी को दूसरे लोगों के साथ संबंध बनाने पर मजबूर किया जाता था। इस बात से परेशान होकर उसकी बेटी ने 9 जून को सुसाइड कर लिया था।

मकान मालिक के बेटे के फोन पर आई वीडियो

महिला का आरोप है कि उसकी बेटी की अश्लील वीडियो और फोटो एक दिन उनके मकान मालिक के बेटे दमन के मोबाइल पर आई। उसने उसकी बड़ी बेटी को यह बात बताई कि उसके पास उसकी छोटी बहन की कुछ फोटो और वीडियो आए हैं। इसके बाद परिवार ने यह फोटो और वीडियो देखी। जिससे परिवार को पूरा यकीन हो गया कि उसकी बेटी से गलत काम कराया जा रहा था। जिससे मजबूर होकर उसने सुसाइड किया।

 

Check Also

MP में शिक्षा पर मंथन:नई शिक्षा नीति में शिक्षकों पर रहेगा ज्यादा फोकस; बदलाव के लिए 20 साल का लक्ष्य रखा, सुझाव CM को भेजे जाएंगे

दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आज समापन हो गई। दो दिवसीय कार्यक्रम में संस्कार के …