‘कौमार्य’ दिखाने के लिए खुलेआम की जाती थी ‘वर्जिनिटी सर्जरी’, सरकार ने लगाई रोक

वर्जिनिटी रिपेयर सर्जरी: यूके में, स्वतंत्र जीवन जीने की आदी युवा महिलाएं कम उम्र में ही अपना कौमार्य खो देती हैं। ऐसे में जब इनकी शादी हो रही थी तो हाल ही में युवतियों ने ‘वर्जिनिटी रिपेयर सर्जरी’ का सहारा लेना शुरू कर दिया है। ताकि वे साबित कर सकें कि वे कुंवारी हैं। इस प्रवृत्ति पर प्रतिबंध लगाने के लिए सरकार ने अब संसद में एक कानून पेश किया है।

WION वेबसाइट की एक रिपोर्ट के अनुसार, ‘वर्जिनिटी रिपेयर’ सर्जरी, जिसे हाइमेनोप्लास्टी के नाम से जाना जाता है, ब्रिटिश सरकार द्वारा की गई थी। इसे अपराध बनाने के लिए कानून बनाया गया है। सोमवार को पेश किया गया स्वास्थ्य रख रखाव बिल पर शोध के अनुसार, हाइमन के पुनर्निर्माण का प्रयास करने वाली कोई भी प्रक्रिया अवैध होगी। सर्जरी करने वाला व्यक्ति इससे सहमत है या नहीं।

ब्रिटेन के क्लीनिकों में कई निजी क्लीनिकों और फ़ार्मेसीज़ में विवादास्पद सर्जरी की जाती हैं, जो पुन: कौमार्य होने का दावा करती हैं। यहां बड़ी संख्या में युवतियों की फिर से कुंवारी बनने की सर्जरी हो रही है।

सर्जरी कैसे की जाती है?

इस सर्जरी का मकसद तब खून बहाना होता है जब कोई युवती या महिला अपने पार्टनर के साथ रिलेशनशिप में हो, चाहे वे पहले किसी के भी साथ रिलेशनशिप में रही हों। यह एक नकली हाइमन झिल्ली बनाने के लिए एक ऊतक का उपयोग करता है। जिससे संभोग के दौरान खून बहने लगता है।

प्रतिबंध क्यों?

सरकार ने पिछले जुलाई में कौमार्य परीक्षण को अपराध घोषित किया था। इसलिए डॉक्टरों और नर्सों ने ‘वर्जिनिटी रिपेयर’ सर्जरी को अवैध घोषित करने की अपील की थी। डॉक्टरों के मुताबिक युवतियां भी इस सर्जरी से इसलिए गुजरती हैं क्योंकि वे नहीं चाहती कि उनके पति को पता चले कि शादी से पहले उनके बीच शारीरिक संबंध रहे हैं। एक निजी अस्पताल में इस सर्जरी को करने में 50,000 रुपये से 60,000 रुपये का खर्च आता है। इस सर्जरी में करीब आधा घंटा लगता है।

Check Also

अपने ही देश में विस्थापित जीवन जीने को विवश करोड़ों लोग

न्यू यॉर्क, 28 मई (हि.स.)। दुनिया में देशों के भीतर की आंतरिक मुसीबतें भी कम …