कोविड के बीच अच्छी खबर:अगस्त से शुरू हो सकता है रूसी वैक्सीन स्पुतनिक-V का उत्पादन, 85 करोड़ डोज बनाने की योजना

 

  • मई के अंत तक स्पुतनिक-V की 30 लाख डोज और आएंगी
  • रूस ने सिंगल डोज स्पुतनिक वैक्सीन का भी प्रस्ताव भेजा

देश में कोरोना वैक्सीन की किल्लत के बीच अच्छी खबर आई है। रूस की कोविड वैक्सीन स्पुतनिक-V का देश में अगस्त से उत्पादन शुरू हो सकता है। रूस में भारतीय राजदूत बाला वेंकटेंश वर्मा ने शनिवार को यह जानकारी दी। स्पुतनिक-V का उत्पादन शुरू होने से देश में वैक्सीनेशन कार्यक्रम में तेजी आएगी।

मई के अंत तक 30 लाख डोज और आएंगी

वेंकटेश ने बताया कि अब तक स्पुतनिक-V की 2.10 लाख डोज भारत भेजी जा चुकी हैं। मई के अंत तक इस वैक्सीन की 30 लाख डोज और भारत भेजी जाएंगी। जून में स्पुतनिक-V वैक्सीन की डोज की संख्या बढ़कर 50 लाख हो सकती है। उन्होंने आगे बताया कि वर्तमान योजना के तहत भारत में स्पुतनिक-V की 85 करोड़ डोज बनाई जानी हैं। वेंकटेश ने कहा कि भारत में बनने वाली वैक्सीन दुनिया में कहीं भी बनाई जाने वाली स्पुतनिक-V का 65% से 70% हिस्सा होगा।

तीन चरणों में भारत आएगी स्पुतनिक-V

मौजूदा योजना के मुताबिक, भारत में स्पुतनिक-V तीन चरणों में लाई जाएगी। इसमें सबसे पहले सीधे आयात, दूसरा फिल एंड फिनिश और तीसरा भारतीय कंपनियों को तकनीक ट्रांसफर और उत्पादन शामिल हैं। फिल एंड फिनिश मोड के तहत वैक्सीन भारत में ही वायल में भरी जाएंगी। वेंकटेश ने बताया कि इन तीनों ही तरीकों से स्पुतनिक-V की भारत में करीब 85 करोड़ डोज उपलब्ध कराई जाएंगी।

सिंगल डोज स्पुतनिक लाइट को लेकर भी होगी साझेदारी

सिंगल डोज स्पुतनिक वैक्सीन के बारे में बोलते हुए वेंकटेश ने कहा कि यदि इसको मंजूरी मिलती है तो यह भारत और रूस के बीच सहयोग का एक और क्षेत्र होगा। वेंकटेश ने कहा कि रूस ने स्पुतनिक लाइट का प्रस्ताव दिया है। इसे भारत में अभी रेगुलेटरी अप्रूवल नहीं मिला है। एक बार रेगुलेटरी अप्रूवल मिलने के बाद भारत और रूस के बीच सहयोग बढ़ जाएगा।

देश में कोरोना वैक्सीन का संकट

देश में इस समय 18 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए वैक्सीनेशन कार्यक्रम चल रहा है। लेकिन इसमें वैक्सीन की कमी का संकट पैदा हो रहा है। वैक्सीन का उत्पादन बढ़ाने से ही इस संकट से मुक्ति मिल सकती है। भारत में इस समय मुख्य रूप से सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोवीशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सिन का ही उत्पादन हो रहा है।

भारत में डॉ. रेड्डीज उपलब्ध करा रही है स्पुतनिक

डॉ. रेड्डीज लैबोरेट्रीज रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) की भारतीय पार्टनर है। रूसी वैक्सीन स्पुतनिक-V का भारत में प्रोडक्शन डॉ. रेड्डीज लैबोरेट्रीज ही करेगी। फिलहाल डॉ. रेड्डीज ही स्पुतनिक-V को उपलब्ध करा रही है। हाल ही में डॉ. रेड्डीज के एक अधिकारी ने कहा था कि भारत में उत्पादन शुरू होने के बाद ही सरकार को स्पुतनिक-V उपलब्ध कराई जाएगी। डॉ. रेड्डीज ने पायलट प्रोजेक्ट के आधार पर देश में बड़े शहरों में स्पुतनिक-V की डिलिवरी शुरू कर दी है। इसकी शुरुआत हैदराबाद से की गई है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

बिहार में बाढ़ का कहर जारी, राहत बचाव में तैनात की गई NDRF-SDRF की 16 टीमें

Patna: बिहार में बाढ़ (Bihar Flood) का कहर जारी है. सूबे के 11 जिलों में बाढ़ …