कोरोना: हरियाणा में पान, गुटखा और पान मसाले पर लगा एक साल का बैन

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हरियाणा सरकार ने पान, गुटखा और पान मासले की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह बैन एक साल के लिए होगा। सरकार ने अधिकारियों को इसे सख्ती से लागू कराने के लिए निर्देश दिए हैं। फूड और ड्रग विभाग के कमिश्नर ने सभी जिलों के अधिकारियों को इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है।

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए हरियाणा से पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने गुटखा और पान मसाला की बिक्री को प्रतिबंधित कर दिया था। दरअसल, कोरोना वायरस का संक्रमण लार और थूक से भी हो सकता है। इसी के बाद हरियाणा सरकार ने यह फैसला लिया है। राज्य में पान मसाला की बिक्री, उत्पादन और वितरण पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। अगर कोई भी इस नियम की अनदेखी करते पाया गया तो उसके खिलाफ सरकार कड़ी कार्रवाई करेगी।

हरियाणा में कोरोना के 29 मामले

बता दें कि हरियाणा में मंगलवार शाम तक कुल 29 कोरोना संक्रमित मामले सामने आए थे। इसमें से 10 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और बुधवार को अभी तक कोई नया केस नहीं आया है। स्वस्थ हुए मरीजों में गुरुग्राम के 6, पलवल के एक, पानीपत के दो और फरीदाबाद के एक मरीज शामिल हैं। वहीं कुल 29 मामलों में गुरुग्राम से 10, फरीदाबाद से 6, अंबाला, हिसार, पलवल और सोनीपत में एक- एक, पंचकूला में 2, पानीपत जिला में 4 और सिरसा के 3 मरीज हैं।

राज्य सरकार लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए है। प्रशासन का कहना है कि प्रदेश में अब हालात नियंत्रण में है। हालांकि सरकार अभी भी पूरी निगरानी कर रही है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रतिदिन समीक्षा बैठक कर रहे हैं और नियमित रूप से अधिकारियों से रिपोर्ट ले रहे हैं। प्रशासन का कहना है कि अभी खुश होने का समय नहीं है। हमें लगातार इसी तरह काम करना होगा ताकि जल्द से जल्द इस बीमारी से राज्य और देश बाहर आ सके।

Check Also

छात्रा की परीक्षा न छूटे इसलिए 70 सीटों की नाव में अकेले पहुंचाया स्कूल, जमकर हो रही तारीफ

अलफुजा। केरल के अल्फुजा जिले में रहने वाली 11वीं की छात्रा सांद्रा बाबु ने जैसी ही …