कोरोना से ठीक होने के 2 महीने बाद, लोगों की ऐसी रही हालत!

इटली में 143 लोगों पर स्टडी की गई जो कोरोना से संक्रमित हुए थे और उन्हें हॉस्पिटल में भी भर्ती होना पड़ा था। स्टडी में पता चला कि 90 फीसदी लोगों में बीमारी शुरू होने के 2 महीने बाद भी कुछ लक्षण मौजूद थे। इनमें थकावट महसूस करना, सांस लेने में मुश्किल, जोड़ों का दर्द शामिल है। रोम के एक हॉस्पिटल के डॉक्टर एंजेलो कार्फी ने इस स्टडी का नेतृत्व किया।

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, रिसर्च में पता चला कि बीमार होने के करीब 60 दिन बाद सिर्फ 12.6 फीसदी लोग ही कोरोना के लक्षण से पूरी तरह मुक्त हो पाए। स्टडी के दौरान आधे लोगों ने बताया कि उनकी लाइफ क्वालिटी पहले के मुकाबले खराब हो गई है। एक्सपर्ट ने स्टडी के नतीजे को बेहद चिंताजनक बताया है।

 

इससे पहले एक स्टडी में सामने आया था कि कोरोना से जिन मरीजों के स्वाद लेने या सूंघने की शक्ति चली जाती है, उनमें से 10 फीसदी मरीजों में ये लक्षण एक महीने बाद भी खत्म नहीं होते। असल में कोरोना के नई बीमारी होने की वजह से अब तक डॉक्टरों को भी ठीक-ठीक पता नहीं चल पाया है कि लंबे वक्त में कोरोना मरीजों के शरीर पर क्या क्या असर देखने को मिलेगा।

वहीं, इटली की स्टडी में यह भी पता चला कि कोरोना से ठीक हो चुके करीब 55 फीसदी लोगों में दो महीने बाद भी तीन या तीन से अधिक लक्षण मौजूद थे। जबकि 32 फीसदी मरीजों में एक या दो लक्षण थे। वहीं, 43 फीसदी मरीजों को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी और 21 फीसदी लोगों की छाती में दर्द था। हालांकि, ये सारे मरीज कोरोना से निगेटिव घोषित हो चुके थे।

Check Also

जर्मनी में 3 महीने में पहली बार एक दिन में 1200 केस मिले, एयर इंडिया ने यूरोप के पांच शहरों के लिए उड़ानें रोकीं; दुनिया में 2.06 करोड़ मरीज

दुनिया में कोरोनावायरस संक्रमण के अब तक 2 करोड़ 6 लाख 1 हजार 927 मामले …