कोरोना संक्रमण का दर दो प्रतिशत से भी कम, मिले 459 संक्रमित

रायपुर। छत्तीसगढ़ में करीब तीन महीने के हाहाकार के बाद अब प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर खत्म होने के कगार पर है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को प्रदेश की औसत संक्रमण दो प्रतिशत से भी कम हो गई है। हालांकि बस्तर क्षेत्र में संक्रमण दर के आंकड़ों ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। बस्तर और बीजापुर जिलों का संक्रमण चार प्रतिशत के करीब है। बता दें कि दूसरी लहर का प्रकोप शुरू होने के बाद पहली बार बीते रविवार को राज्य में संक्रमण दर 1.5 प्रतिशत रही। पिछले 24 घंटे में 32 हजार 428 लोगों की टेस्टिंग की गई, जिसमें 459 कोरोना संक्रमण के नए मामले मिले।

प्रदेश के कई जिलों में बीते रविवार को संक्रमण के नए मामलों की संख्या ईकाई में रह गई। लेकिन बस्तर जिले में सबसे अधिक 45 नए मरीज मिले। इसके अलावा बीजापुर और जांजगीर-चांपा में 37-37 नए संक्रमित मिले। बस्तर में 901 मरीज और बीजापुर में 944 सक्रिय मरीज हैं।

पिछले 24 घंटे में कुल 6 संक्रमितों की मौत हुई है। ये सभी मौतें बलौदाबाजार, गरियाबंद, रायगढ़, कोरबा, जांजगीर-चांपा और कोरिया जिले में हुई है। बता दें कि मार्च के दूसरे सप्ताह के बाद ऐसा पहली बार हुआ है । औसतन अप्रैल और मई के महीनों में कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा 160 प्रतिदिन रहा है। इससे पहले 12 जून को 11 मरीजों की मौत हुई थी।

रविवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक 24 घंटों में 949 लोग इस महामारी से ठीक घोषित किए गए हैं। इसके बाद सक्रिय मरीजों की संख्या घटकर 13 हजार 677 रह गई है। इनमें से करीब 90 प्रतिशत का इलाज होम आइसोलेशन में ही चल रहा है। शनिवार को सक्रिय मरीजों की संख्या 15 हजार 82 थी। वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, नई दिल्ली में लॉकडाउन खुलने के बाद पॉजीटीविटी दर फिर से 0.5 प्रतिशत बढ़ गयी है। इसी तरह पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र के बस्तर की सीमा से लगे जिलों में भी कोविड संक्रमण में वृद्धि की जानकारी मिल रही है। इससे सबक लेने की जरूरत है।

Check Also

जालंधर में अकाली-बसपा के प्रदर्शन में माहौल गर्माया:मांग पत्र देने पहुंचे तो जॉइंट कमिश्नर मोबाइल पर बात करते रहे, भड़के नेताओं ने सरकार को छोड़ उन्हीं के खिलाफ शुरू कर दी नारेबाजी

  मांग पत्र देने खड़े पहुंचे नेता व मोबाइल पर बात करते जॉइंट कमिश्नर। जालंधर …