कोरोना वैक्सीन की 100 मिलियन खुराक भारत की डॉ रेड्डी लैबोरेट्रीज को सप्लाई करेगा रूस

मॉस्को : रूसी डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) भारत के साथ हुए समझौते के तहत भारत की डॉ रेड्डी लैबोरेट्रीज को अपने कोरोना वैक्सीन ‘स्पूतनिक वी’ की 100 मिलियन खुराक भारत को सप्लाई करेगा। आरडीआईएफ की ओर से बुधवार को इसकी पुष्टि की गई।
आरडीआईएफ की ओर से जारी एक वक्तव्य में कहा गया है कि रूस के सॉवरेन वेल्थ फंड और भारत के डॉ रेड्डीस लैबोरेट्रीज ने स्पूतनिक वी वैक्सीन के भारत में क्लीनिकल ट्रायल और वितरण में सहयोग देने पर सहमति जताई है। भारत के रेग्यूलेट्री अप्रूवल के बाद आरडीआईएफ की ओर से भारत को वैक्सीन की 100 मिलियन खुराक सप्लाई की जाएगी।
डॉ रेड्डी के को-चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर जीवी प्रसाद ने कहा कि फेस 1 और फेस 2 के ट्रायल का वादा निभाया गया है लेकिन फेस 3 के ट्रायल भारतीय रेग्यूलेटर्स की जरूरत को ध्यान में रखते हुए भारत में किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि आरडीआईएफ को वैक्सीन को भारत लाने में सहयोग देकर हम खुश हैं। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में वैक्सीन एक विश्वसनीय विकल्प साबित हो सकता है।
आरडीआईएफ के सीईओ कीरी दिमित्रेव ने भी कहा है कि भारतीय कंपनी के साथ एग्रीमेंट कर हम खुश हैं। उन्होंने कहा कि डॉ रेड्डी 25 साल से अधिक समय से बहुत अच्छे तरीके से रूस में स्थापित है और मशहूर भी है। साथ ही भारत की शीर्ष दवा बनाने वाली कंपनियों में से एक है।
उल्लेखनीय है कि रूस ने अगस्त में कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी को पंजीकृत कराया था। इसका ट्रायल रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन की बेटी पर भी किया गया था।

 

Check Also

कोरोनावायरस वैक्सीन Tracker: अमेरिका में चार टीकों का परीक्षण अंतिम चरण में, उम्मीदें बढ़ीं

कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामले भारत (India) समेत दुनियाभर में बढ़ते जा रहे हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य …