कोरोना वैक्सीन की किल्लत से जूझ रहे हैं कई देश

चीन के वुहान से शुरू हुए कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही मचाई है। ज्यादातर देश कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहे हैं। हालांकि, इस समय कोरोना वायरस की लहर धीमी हो गई है। कोरोना वायरस से जंग जीतने के लिए पूरी दुनिया में वैक्सीनेशन किया जा रहा है। लेकिन अभी कुछ देश ऐसे हैं जिनमें वैक्सीन की किल्लत हो गई है यानी के कोरोना वैक्सीन की कमी से जूझ रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, बांग्लादेश, नेपाल और रवांडा समेत दुनिया के कई देश कोरोना वैक्सीन की कमी का सामना कर रहे हैं। खबरों की मानें तो इन देशों में वैक्सीन की किल्लत की वजह भारत स्थित सीरम इंस्टीट्यूट में एक के बाद एक परेशानियों का आना है।

जानकारी के अनुसार, एक्सपर्ट्स ने चिंता व्यक्त की है कि गरीब देशों में धीमे टीकाकरण के चलते कोरोना वायरस के नए वेरिएंट तैयार हो सकते हैं और महामारी को ज्यादा मुश्किल बना सकते हैं। सीरम इंस्टीट्यूट की फैक्ट्री में आग लगने से लेकर निर्यात प्रतिबंधों के चलते दुनिया के कई देशों में वैक्सीन प्रोग्राम खासा प्रभावित हुआ है। रिपोर्ट के अनुसार, कोवैक्स को वैक्सीन सप्लाई करने वालों में सीरम इंस्टीट्यूट का नाम सबसे ऊपर था। कोवैक्स, डब्ल्यूएचओ की एक पहल है जिसके तहत विश्वभर में कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराई जानी है।

कोवैक्स के तहत सीरम को 20 करोड़ डोज का ऑर्डर मिला था, जिसमें से अभी तक केवल 3 करोड़ डोज ही प्राप्त हुए हैं। जानकारों का कहना है कि कोरोना वैक्सीन की कमी की वजह से आगे कई परेशानियां आने की उम्मीद है। इसके अलावा कई अन्य निर्माता भी डिलीवरी का टारगेट पूरा करने में परेशानी का सामना कर रहे हैं। कोवैक्स काफी हद तक सीरम पर निर्भर था, जिसके कारण वैश्विक स्तर पर सप्लाई प्रभावित हुई है।

Check Also

फिलीपींस ने भारत पर यात्रा प्रतिबंध बढ़ाया

मनीला, 15 जून (हि.स.)। फिलीपींस ने भारत सहित पाकिस्तान, श्रीलंका, नेपाल, बांग्लादेश, ओमान और संयुक्त …