कोरोना काल में अगर बाहर खाते हैं खाना और करते हैं शॉपिंग तो संभल जाएं, जानें क्या कहती है नई रिसर्च रिपोर्ट

हार्वर्ड के शोधकर्ताओं की एक रिपोर्ट के अनुसारहवाई जहाज में यात्रा करने वाले किसी व्यक्ति की तुलना में एक व्यक्ति जो रेस्तरां में खाता है और किराने की खरीदारी के लिए बाहर निकलता है उसे कोरोना वायरस होने का जोखिम ज्यादा रहता है। हार्वर्ड टीएच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के वैज्ञानिकों ने इस सप्ताह एविएशन पब्लिक हेल्थ इनिशिएटिव ’नाम से एक अध्ययन प्रकाशित किया, जिसमें उन्होंने दावा किया कि अगर यात्रियों को निवारक उपायों का पालन करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है, तो उन्हें कोविड-19 होने की दर में भारी कमी हो सकती है।

वायरस के प्रसार को रोकने के लिए दिशानिर्देश, साबुन के साथ हाथों की लगातार धुलाई, हर समय मास्क पहनना, विमान और हवाई अड्डे में निरंतर वेंटिलेशन और एयरफ्लो सुनिश्चित करना और नियमित रूप से विमानों की सफाई और स्वच्छता करना, इनका पालन करना जरूरी है। अध्यन में कहा गया है कि अगर इन दिशानिर्देशों का पालन किया जाता है। तो हवाई यात्रा करन वाले व्यक्तियों को “किराने की खरीदारी या बाहर खाने जैसे महामारी के दौरान अन्य नियमित गतिविधियां करने वाले लोगों की तुलना में कोरोना वायरस के होने का जोखिम कम होता है।

 

अध्ययन में कहा गया है कि शिक्षा और जागरूकता भी कोरोनावायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।अध्यन में कहा गया है, “एयरलाइंस और हवाई अड्डे जनता को उन कार्यों के बारे में सूचित करने के लिए अभियान चला रहे हैं। जो वे अपनी यात्रा पर रोग संचरण को कम करने के लिए कर सकते हैं।

इसमें चेक-इन, बोर्डिंग और विमान में बुकिंग के समय सार्वजनिक स्वास्थ्य सुरक्षा जानकारी शामिल है। केबिन क्रू को संभावित रूप से संक्रमित व्यक्तियों की पहचान करने और अलग करने के लिए प्रशिक्षण प्राप्त करना चाहिए।

Check Also

छाप तिलक सब छीनी रे मो से नैना मिलाके रे…

जनजातीय संग्रहालय में मो. साजिद और आमिर हफीज ने दी सूफियाना प्रस्तुति। जनजातीय संग्रहालय में …