कोरोना और कोल्ड फ्लू में क्या है अंतर, सिर्फ एक लक्षण बताएगा दोनों के बीच का फर्क

नई दिल्ली: दुनियाभर में कोरोना वायरस से अभी तक 3 करोड़ 77 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं. इसमें से 10 लाख 81 हजार लोगों ने अपनी जान गंवा दी है. जिसके कारण सभी के मन में इस बिमारी के लिए डर बैठ गया है. वहीं भारत में बदलते मौसम के बीच कई लोग इस बात से भी परेशान हो रहे हैं कि आम सर्दी, जुकाम और बुखार और कोरोना संक्रमण में फर्क कैसे किया जाए.

 

दरअसल आमतौर पर होने वाला सर्दी, जुकाम और बुखार कोरोना महामारी से पूरी तरह से अलग है. इसमें होने वाली बिमारी सभी वायरस के कारण ही होती है, लेकिन यह वायरस एक दूसरे काफी अलग होते हैं. सर्दी होने पर हमें खासी की शिकायत होनी आम बात है. वहीं कोरोना संक्रमण में भी खासी की शिकायत आती है. लेकिन कोरोना संक्रमण में खासी लगातार एक घंटे तक या उससे ज्यादा समय तक आ सकती है. ऐसा दिन में तीन या चार बार हो सकता है.

 

इसके साथ ही कोरोना संक्रमण के दौरान जुकाम सबसे आम है. वहीं सर्दी लगने के कारण भी जुकाम की शिकायत सबसे ज्यादा देखने को मिलती है. कोरोना संक्रमण के कारण हुए जुकाम में संक्रमित इंसान सूंघने की शक्ति को खो देता है. कुछ हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि जुकाम का होना कोरोना का लक्षण नहीं हो सकता है.

 

उनके अनुसार जब तक जुकाम के साथ बुखार, खांसी और सूंघने की शक्ति के कम होने के लक्षण सामने नहीं आते तब तक कोरोना के संक्रमण की बात को नकारा जा सकता है. उनका कहना है कि सर्दी लगने और कोरोना में एक समान लक्षण हो सकते हैं, लेकिन यह एक दूसरे से पूरी तरह अलग होते हैं. इसके साथ ही कोरोना में बुखार या शरीर का तापमान बढ़ना भी एक मुख्य लक्षण के तौर पर शामिल है. इससे निपटने के लिए सलाह दी जाती है कि सर्दी लगने पर बुखार आने पर आप खुद को कुछ समय के लिए आइसोलेशन में रख लें.

Check Also

कांग्रेस नेता वासनिक बोले – भाजपा का 28 में से 28 सीटें जीतने की बात करना मुंगेरी लाल के हसीन सपनों जैसा

बुरहानपुर के नेपानगर में चुनावी रैली को संबोधित करने आए थे वासनिक। कांग्रेस के वरिष्ठ …